लॉकडाउन के चलते हिमाचल के मंदिरों में पहली बार रामनवमी पर बिना भक्तों के हुई पूजा-अर्चना

by Ravinder Singh

कोरोना वायरस (corona virus) के चलते पूरे देश में लागू लॉकडाउन (lockdown) के कारण रामनवमी (ramnavami) पर हिमाचल प्रदेश के मंदिरों (himachal pradesh temples) में बिना भक्तों के पूजा-अर्चना की गई। यह पहली बार हुआ है कि चैत्र नवरात्र (chaitra navratri) के दौरान हिमाचल प्रदेश के प्रमुख धार्मिक स्थलों पर श्रद्धालुओं की भीड़ नजर नहीं आई। हिमाचल प्रदेश के शक्तिपीठों में भी अष्टमी और राम नवमी पर मंदिर के पुजारी, प्रशासन और मंदिर न्यास के अधिकारियों ने ही हवन यज्ञ के दौरान आहुतियां डालीं और भोग लगाया गया। गौरतलब है कि हर साल अष्टमी और राम नवमी पर मंदिरों के श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ता है। लेकिन इस वर्ष कोरोना वायरस के कारण लागू लॉकडाउन के चलते मंदिर सूने दिखाई दिए।

पुजारियों ने किया हवन

हिमाचल प्रदेश के शक्तिपीठ बज्रेश्वरी मंदिर में रोजाना पुजारी द्वारा सुबह-शाम माता की आरती की जा रही है। राम नवमी पर पुजारी ने माता को पूरी व चने का भोग लगाया। वहीं अष्टमी पर यहां माता की विशेष पूजा-अर्चना की गई। श्री चामुंडा नंदीकेश्वर धाम में भी राम नवमी पर दोपहर 12 बजे पूर्णाहुति डाली गई। इस पूर्णाहुति में सिर्फ मंदिर के पुजारियों ने ही भाग लिया। वहीं अष्टमी पर श्री चामुंडा नंदीकेश्वर धाम में पूजा-अर्चना के साथ हवन यज्ञ किया गया। इनके अलावा शक्तिपीठ ज्वालामुखी मंदिर में लॉकडाउन के कारण रामनवमी पर कोई विशेष कार्यक्रम आयोजित नहीं हुआ, जबकि अष्टमी पर मंदिर में यज्ञ का आयोजन हुआ, जिसमें मंदिर के पुजारी ही शामिल हुए।

himachal pradesh ram navami

Source – RVA Temples

पुजारी ने कहा ऐसा दिन कभी नहीं देखा

दूसरी तरफ शक्तिपीठ चिंतपूर्णी मंदिर परिसर के हवन कुंड में डीसी संदीप कुमार ने आहुतियां डालीं। इसके बाद उन्होंने माता के दर्शन किए और पूजा अर्चना की। वहीं शक्तिपीठ श्री नयना देवी मंदिर में भी अष्टमी पर आरती, पूजा-अर्चना के साथ ही हवन किया गया। मंदिर के पुजारी ने बताया कि उन्होंने कभी ऐसा दिन नहीं देखा कि मंदिर के कपाट नवरात्र या अन्य किसी दिन भक्तों के लिए बंद किए हों।

इन लोकप्रिय खबरों को भी पढ़ें 

Web Title worship in himachal pradesh temples without devotees on ramnavami due to lockdown

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!