आस्ट्रेलियन तकनीक से तैयार की जा रही है उत्तराखंड की सबसे बड़ी सुरंग, जानिए इसकी खास बातें

by Content Editor

उत्तराखंड में कहीं भी आने जाने के लिए घंटों का समय लगता था। पिछले कुछ सालों से यहां जिस तेजी से सुरंग और सड़कों का निमार्ण किया जा रहा है, इसके चलते य़ात्रियों का कीमती समय बच रहा है। इसी के चलते उत्तराखंड में टिहरी ( tehri ) के चंबा में 440 मीटर सुरंग का निर्माण किया जा रहा है। यह सुरंग चंबा के गोल्डी गांव की तरफ से बन रही है, जिसका काम तेजी से चल रहा है। इसके लिए ऑस्ट्रेलियन तकनीक एनएटीएम (न्यू आस्ट्रेलियन टेक्नालॉजिक्स मैथड) का इस्तेमाल किया जा रहा है। उत्तराखंड (uttarakhand) के पहाड़ी क्षेत्रों में सड़क के लिए बनने वाली यह सबसे बड़ी सुरंग (longest tunnel) होगी। इस दौरान सुरंग के ऊपर बसे चंबा बाजार से कोई छेड़छाड़ नहीं की जाएगी और बाजार उसी तरह से चलता रहेगा। सुरंग बनाने के लिए जमीन को खोदकर उसकी मिट्टी निकाली जा रही है।

uttarakhand longest tunnel in tehri 

बता दें कि इस प्रोजेक्ट को ऑलवेदर रोड ​नाम दिया गया है। बीआरओ के मुताबिक न्यू ऑस्ट्रेलियन टेक्नालॉजिक्स मैथड (एनएटीएम) तकनीक से यह सुरंग बनाई जाएगी। इसमें जमीन को खोदकर उसकी मिट्टी निकाली जाएगी और धीरे-धीरे उसे कंक्रीट से मजबूत किया जाएगा। दस मीटर चौड़ी इस सुरंग में पैदल यात्रियों के लिए 10 फीट चौड़ा फुटपाथ भी छोड़ा जाएगा। सुरंग बनाने के लिए डेढ़ साल का समय तय किया गया है। यानि डेढ़ साल के भीतर काम पूरा हो जाएगा। इस सुरंग के बनने से लोगों को कई फायदे होंगे। चंबा में लगने वाले जाम से मुक्ति मिलेगी। साथ ही गंगोत्री जाने के लिए यात्रियों को ऋषिकेश के बाद चंबा शहर से होकर नहीं गुजरना पड़ेगा। वो चंबा में दाखिल हुए बिना डायरेक्ट गंगोत्री धाम पहुंच सकेंगे। इससे यातायात में लगने वाला अतिरिक्त समय बचेगा। चारधाम यात्रा बेहतर और सुविधाजनक हो जाएगी। सुरंग बनने के बाद यहां ओरछा बैंड, राड़ी टॉप, ग्योनोटी क्षेत्र में पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा मिलने की उम्मीद है। चंबा शहर को बचाने के लिए ऑल वेदर रोड के अधिकारियों ने मंजयूड गांव से गोल्डी गाव तक सुरंग बनाने का प्रस्ताव भारत सरकार से स्वीकृत करवाया था।

uttarakhand longest tunnel in tehri 

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!