केदारनाथ-बदरीनाथ की पहाड़ियों पर हुई मौसम की पहली बारिश पर हाईवे पर फंसे हजारों यात्री

by Content Editor

uttarakhand badrinath highway- समुद्रतल से 11750 फीट की ऊंचाई पर स्थित केदारनाथ और बदरीनाथ के ऊपरी इलाकों में शनिवार को सीजन का पहला हिमपात हुआ। इसके अलावा लामबगड़ में भारी बारिश के चलते 21 घंटे बाद रविवार को बदरीनाथ हाईवे पर वाहनों की आवाजाही शुरू हुई, लेकिन सिर्फ तीन घंटे खुला रहने के बाद फिर चट्टान से मलबा और बोल्डर आने के कारण यह हाईवे बंद हो गया है। हाईवे खुलने पर बदरीनाथ धाम और विभिन्न पड़ावों पर रोके गए करीब 4000 तीर्थयात्रियों को उनके गंतव्य को भेजा गया। शनिवार को बारिश के दौरान चट्टान से मलबा और बोल्डर आने से लामबगड़ में बदरीनाथ हाईवे दोपहर अवरुद्ध हो गया था। रविवार को बारिश थमने के बाद जेसीबी से मलबा और बोल्डरों को हटाने का काम शुरू हुआ। पूर्वाह्न तक वाहनों की आवाजाही शुरू करवाई गई।uttarakhand badrinath highway

uttarakhand badrinath highway

केदारनाथ में दिनभर रुक-रुककर होती बारिश के चलते ठंड बढ़ गई है। जबकि, बदरीनाथ धाम में लगातार बारिश से ठंड में इजाफा हो गया। ठंड को देखते हुए तीर्थयात्री अपने कमरों में दुबके रहे। केदारनाथ में अधिकतम तापमान 6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।

केदारनाथ में हेलीकॉप्टर सेवा बाधित
केदारनाथ पहुंचे जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने बताया है कि बीते अन्य दिनों की अपेक्षा शनिवार को केदारनाथ में ठंड अधिक महसूस की गई। धाम के ऊपरी क्षेत्रों में हिमपात हुआ है। जिला मुख्यालय रुद्रप्रयाग से केदारनाथ तक शनिवार दिनभर रुक-रुककर हल्की बारिश होती रही। इस दौरान केदारनाथ यात्रा सुचारु रही, लेकिन हेलीकॉप्टर सेवा दिन में कई बार बाधित होने से यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ा।

शुक्रवार देर रात से ही मौसम का मिजाज बिगड़ने लगा था। बादलों की तेज गर्जना के साथ रात को कुछ देर हल्की बारिश हुई, लेकिन शनिवार तड़के से सुबह 7 बजे तक बारिश तेज रही। इसके बाद दिनभर रुक-रुककर बूंदाबांदी होती रही। उधर, केदारनाथ में भी मौसम का मिजाज बिगड़ा रहा।

4200 मीटर की ऊंचाई से दिखाई देती है छिपला केदार की अद्भुत खूबसूरती
2000 साल से भी अधिक पुराना है ऋषिकेश का यह मंदिर, अपने आप बजने लगती हैं घंटियां
चंबा में है भलेई माता का अनोखा मंदिर, मूर्ति को आता है पसीना

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!