खत्म नहीं हो रही पहाड़ों पर जाम की समस्या, परेशान हुए पर्यटक

by Ravinder Singh

प्रशासन की तमाम कोशिशों के बाद भी हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड  के हिल स्टेशनों (hill stations) पर आने वाले पर्यटकों और श्रद्धालुओं को ट्रैफिक जाम (traffic jam) से मुक्ति नहीं मिल पा रही है। हालात यह हैं कि पर्यटकों का घंटों समय सिर्फ जाम में फसने के कारण बर्बाद हो रहा है। कई जगह आलम यह है कि यात्री अपने वाहनों को छोड़कर पैदल ही सफर कर रहे हैं। दरअसल देश के मैदानी इलाकों में पड़ रही भीषण गर्मी के कारण पर्यटक और श्रद्धालु इन दिनों गर्मी से राहत पाने के लिए उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश का रुख कर रहे हैं। पर्यटकों की संख्या में तेजी से इजाफा होने के कारण शिमला, मनाली, मसूरी सहित कई पर्यटन स्थलों पर जाम लग रहा है। कई जगह पर्यटकों का आधा समय तो सिर्फ जाम में ही गुजर रहा है।

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में क्षमता से अधिक पर्यटकों के पहुंचने से वहां जाम की समस्या विकराल हो गई है जबकि रविवार को मसूरी में भी वाहनों की लंबी कतार दिखाई दी। मसूरी में स्प्रिंग रोड, हरनाम सिंह मार्ग, पिक्चर पैलेस माल रोड सहित अन्य संपर्क मार्गो पर जाम लगा। कुछ ऐसी ही स्थिति हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के अन्य प्रमुख पर्यटन स्थलों की भी रही। उत्तराखंड की बात करें तो वहां हरिद्वार, नैनीताल और चारधाम यात्रा के रूट पर जाम लगने के कारण श्रद्धालुओं को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। पुलिस प्रशासन द्वारा परिवर्तित यातायात प्लान लागू किए जाने के बावजूद हाईवे पर जाम से निजात नहीं मिल पा रही है।

traffic jam hill stations

इसके अलावा रुड़की में भी यात्रियों को जाम से दो-चार होना पड़ा। चार धाम की यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं की सुविधाओं को लेकर वैसे तो गढ़वाल में शासन-प्रशासन ने काफी तैयारी की हुई थी, लेकिन श्रद्धालुओं की भीड़ के कारण सारी व्यवस्थाएं चरमरा गई। आलम यह है कि तीर्थयात्रियों को जाम, पेट्रोल-डीजल, एटीएम में पैसा नहीं होने, बदहाल सड़कें और शौचालय जैसी मूलभूत समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। पर्यटकों और श्रद्धालुओं का कहना है कि उन्हें यहां गर्मी से तो राहत मिल रही है, लेकिन जाम से परेशानी हो रही है। हालांकि प्रशासन भी इस स्थिति से निपटने के लिए दिन-रात लगा हुआ है।

इन लोकप्रिय खबरोंं के बारे में भी पढ़ें 

Web Title traffic jam problem on hill stations not ending

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!