जिम काॅर्बेट की तर्ज पर 15 अक्टूबर से राजाजी टाइगर रिजर्व में भी घूमने जा सकेंगे पर्यटक

by admin

उत्तराखंड (uttarakhand) के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल (tourist place) राजाजी टाइगर रिजर्व (rajaji tiger reserve) को अब जिम काॅर्बेट (jim corbett) की ही तरह पर्यटकों के लिए जल्द ही खोलने की तैयारी की जा रही है। हर साल टाइगर रिजर्व को 15 नवंबर से पर्यटकों (tourists) के लिए खोला जाता है, लेकिन इस साल जिम काॅर्बेट टाइगर रिजर्व की तर्ज पर 15 अक्टूबर को खोले जाने की तैयारी की जा रही है। जिससे पर्यटक वन्य जीवों को देखने के लिए आ सकेंगे।

टाइगर रिजर्व के अधिकारी जल्द ही इसे खोले जाने की तैयारी कर रहे हैं। इसे 15 अक्टूबर से खोले जाने का प्रस्ताव शासन, वन मुख्यालय और नैशनल टाइगर कंजर्वेशन अथाॅरिटी को भेजा जा रहा है। इस प्रस्ताव पर मंजूरी मिलते ही 15 अक्टूबर से राजाजी टाइगर रिजर्व को खोला जा सकता है। हर साल यहां देश विदेश से पर्यटक हाथी, बाघ, तेंदुआ, हिरण, काकड़ सहित अन्य वन्यजीवों को देखने के लिए आते हैं।

rajaji tiger reserve park

Source – Myowncity

कोरोना महामारी की वजह से राजाजी टाइगर रिजर्व में भी पर्यटकों के आवागमन पर पाबंदी लगा दी गई है। न्यूयार्क में अप्रैल में एक बाघिन के कोरोना पाॅजिटिव पाए जाने के बाद से राजाजी टाइगर रिजर्व में भी केंद्र सरकार ने सख्ती बरतना शुरू कर दिया था। यहां सभी जानवरों पर सीसीटीवी से कडी निगरानी रखी जा रही है। जिससे कोई भी जानवर कोरोना संक्रमित न हो पाए। अगर 15 अक्टूबर से यह खोला जाता है तो पर्यटकों को काफी सावधानी बरतनी होगी।

राजाजी रिजर्व टाइगर देहरादून से 23 किलोमीटर की दूरी पर है। यह देहरादून के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है। यह सबसे अधिक हाथियों की संख्या के लिए भी जाना जाता है। यहां पक्षियों की 300 से अधिक प्रजातियां पाई जाती हैं। 830 वर्ग किलोमीटर में फैले इस उद्यान का नाम चक्रवर्ती राजागोपालाचारी के नाम पर राजाजी राष्ट्रीय उद्यान रखा गया है। यहां पर एक पेड़ ऐसा भी पाया गया है, जो अपने साथ 20 पेड़ जोड़ चुका है।

Uttarakhand में इन जगहों के बारे में भी जानें

Web Title tourists will be able to visit rajaji tiger reserve from october 15 in uttarakhand

(Tourism News from The Himalayan Diary)

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!