जिम काॅर्बेट नैशनल पार्क में रात्रि विश्राम कर सकेंगे सैलानी, पर्यटकों के लिए पूरे किए गए हैं इंतजाम

by admin

उत्तराखंड (uttarakhand) के जिम काॅर्बेट नैशनल पार्क (jim corbett national park) में रात्रि विश्राम की सुविधा पर्यटकों के लिए शुरू की जा रही है। पार्क के तीन जोन में सैलानी (tourists) रात्रि विश्राम कर सकेंगे। कोरोना संकट की वजह से मार्च से यहां के रेस्ट हाउस बंद पड़े थे। लेकिन इस बार काॅर्बेट पार्क समय से पहले खोला जा रहा है। हर साल यह 15 नवंबर को खोला जाता है।

पार्क प्रशासन की तरफ से रेस्ट हाउस को सजाने संवारने के साथ ही सुरक्षा के इंतजाम भी दुरुस्त कर लिए गए हैं। पर्यटक बिजरानी, ढेला और झिरना में रात में ठहरने के लिए गुरुवार से आ सकते हैं। वहीं ढिकाला जोन को हर साल की तरह तय समय पर ही 15 नवंबर को पर्यटकों के लिए खोला जाएगा। बिजरानी जोन में 15 अक्टूबर से हर साल डे विजिट शुरू हो जाती है। वहीं ढेला और झिरना में पूरे साल डे विजिट खुली रहती है।

uttarakhand corbett national park
कोरोना संकट की वजह से इस बार काॅर्बेट नैशनल पार्क को 22 मार्च को बंद कर दिया गया था। जिससे काॅर्बेट प्रशासन को करोड़ों रुपये का नुकसान हुआ। इसे देखते हुए इस बार वन विभाग ने 15 अक्टूबर से बिजरानी, ढेला और झिरना में रात्रि विश्राम को शुरू करने का फैसला लिया है। इस बार नवंबर के बजाए अक्टूबर में एक महीने पहले रात्रि विश्राम की सुविधा शुरू होने से पर्यटकों में खासा उत्साह है।

पार्क निदेशक के अनुसार सैलानी बिजरानी, ढेला और झिरना जोन में रात्रि विश्राम के लिए आ सकेंगे। ढिकाला जोन 15 नवंबर से खोला जाएगा। बताते चलें कि बिजरानी जोन में बाघ अधिक देखने को मिलते हैं। यहां अधिक संख्या में पर्यटकों ने ठहरने के लिए बुकिंग कराई है। वन्य जीव प्रेमी अब करीब से बाघ व अन्य जीव जंतुओं को करीब से देख पाएंगे।

Uttarakhand में इन जगहों के बारे में भी जानें

Web Title tourists will be able to stay overnight at the jim corbett national park in uttarakhand

(Tourism News from The Himalayan Diary)

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!