एक बार फिर से पर्यटकों से गुलजार होगी तीर्थन और जीभी घाटी, होटलों की बुकिंग हुई शुरू

by Ravinder Singh

हिमाचल (Himachal) के कुल्लू जिले (kullu) की तीर्थन (tirthan) और जीभी घाटी (jibhi valley) में घूमने की चाहत रखने वाले पर्यटकों के लिए खुशखबरी है। दोनों ही पर्यटन स्थलों को 5 सितंबर से पर्यटकों के लिए खोले जाने की तैयारी है। जीभी वैली पर्यटन विकास एसोसिएशन और तीर्थन संरक्षण एवं पर्यटन विकास एसोसिएशन ने दोनों ही पर्यटन स्थलों (tourist places) को पर्यटकों के लिए खोले जाने का निर्णय लिया है। घाटी में पर्यटन शुरू होने से कारोबारी भी खुश हैं। कारोबारियों ने होटलों (hotels) और होम स्टे (home stay) की बुकिंग (booking) भी शुरू कर दी है। गौरतलब है कि कोरोना संकट के कारण पिछले काफी दिनों से तीर्थन और जीभी घाटी में पर्यटकों के आने पर रोक लगी हुई थी, लेकिन अब इस रोक को हटाने का फैसला लिया गया है।

सर्वसम्मति से लिया फैसला

इस संबंध में जीभी वैली पर्यटन विकास एसोसिएशन, तीर्थन संरक्षण एवं पर्यटन विकास एसोसिएशन और स्थानीय ग्राम पंचायतों के प्रतिनिधियों के बीच बैठक हुई थी। बैठक में सर्वसम्मति से फैसला लिया गया है कि घाटी को 5 सितंबर से पर्यटकों के लिए खोल दिया जाएगा। इस दौरान कोरोना संक्रमण को देखते हुए पर्यटन कारोबार को कैसे संचालित जाए, इस बात पर भी चर्चा की गई। बैठक के बाद पर्यटन शुरू करने के लिए एसोसिएशन की ओर से पर्यटकों और पर्यटन कारोबारियों के लिए कुछ नियम भी जारी किए गए हैं। एसोसिएशन ने 60 फीसदी आवास क्षमता के साथ न्यूनतम ठहराव दस दिन निर्धारित किया है।

tirthan jibhi valley kullu

Source – himachaltouristplaces

पर्यटकों के लिए जारी किए गए नियम

तीर्थन संरक्षण एवं पर्यटन विकास एसोसिएशन के अनुसार तीर्थन घाटी में पर्यटकों को आने के लिए सरकार द्वारा जारी नियमों का पालन करना होगा। इसके लिए पर्यटक को कोरोना की जांच करवाकर निगेटिव रिपोर्ट का प्रमाणपत्र लेकर आना होगा। साथ ही ई-पास और एडवांस बुकिंग के संबंध में भी एसोसिएशन द्वारा नियम जारी किए गए हैं। घाटी में पर्यटन शुरू करने के लिए पर्यटन कारोबारियों को जागरूक और प्रशिक्षित किया गया है।

Tirthan Jibhi के बारे में यह भी पढ़ें

Web Title tourism will start from september 5 in tirthan and jibhi valley kullu in himachal

(Tourism News from The Himalayan Diary)

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!