होम स्टे विलेज के रूप में पहचाना जाएगा तिवाड़ गांव, 22 परिवारों ने घरों को होम स्टे में किया तब्दील

by admin

उत्तराखंड (uttarakhand) में टिहरी झील (tehri lake) के किनारे बसे हुए तिवाड़ गांव (tiwad) को अब पर्यटक होम स्टे (home stay) विलेज के रूप में जानेंगे। यहां के लोगों ने अपने पैतृक घरों को होम स्टे में बदल दिया है। जिससे स्वरोजगार को बढ़ावा मिलेगा। यहां आसपास के क्षेत्र में कहीं भी होटल की सुविधा नहीं है। टिहरी झील आने वाले पर्यटकों (tourists) को बोटिंग (boating) के बाद बौराड़ी, चंबा, नई टिहरी या धनोल्टी की तरफ रुख करना पड़ता था, लेकिन इस सुविधा के बाद अब पर्यटकों को परेशान नहीं होना पड़ेगा।

टिहरी झील में बोटिंग का लुत्फ उठाने के लिए अब जो भी पर्यटक ठहरने की जगह तलाश करेंगे, उन्हें तिवाड़ गांव के परिवार अपने पैतृक घरों में पनाह देंगे। सबसे पहले सितंबर 2016 में इसकी शुरूआत एक परिवार ने की थी। होम स्टे की शुरूआत अच्छी हुई तो आसपास के लोगों ने भी इस तरफ ध्यान देना शुरू कर दिया। लोगों ने अपने ही पुश्तैनी घरों की साफ सफाई कर उन्हें सैलानियों के ठहरने के लिए तैयार कर दिया।

tiwad home stay tehri

इस साल कोरोना संकट की वजह से कई परिवार के लोग बेरोजगार हो गए। ऐसे में उन्होंने होम स्टे को स्वरोजगार का जरिया बनाया। 2014 से टिहरी झील में बोटिंग गतिविधियां शुरू होने के बाद से आसपास के क्षेत्र में स्वरोजगार की संभावनाएं बढ़ती ही जा रही हैं। ऐसे में होम स्टे एक बेहतर विकल्प बनकर उभर कर आया है। जिससे यहां आने वाले पर्यटकों की मुश्किलें आसान होने के साथ ही स्थानीय लोगों के लिए रोजगार के अवसर पैदा होंगे।

यहां ठहरने वाले पर्यटकों के लिए गांव में फोटो शूट की भी व्यवस्था की गई है। जिसके लिए 1500 रुपये का किराया देना होता है। इससे यहां के युवाओं को रोजगार मुहैया हो रहा है। गांव में होम स्टे के लिए अब हर दिन 15 से 20 पर्यटक पहुंचते हैं। जिला पर्यटन अधिकारी के अनुसार तिवाड़ गांव के लोग होम स्टे के क्षेत्र में बहुत सराहनीय कार्य कर रहे हैं। इस गांव को पर्यटन ग्राम घोषित करने के लिए भी शासन को पत्र भी लिखा गया है।

Uttarakhand Tehri में इन जगहों के बारे में भी जानें

Web Title tiwad village near tehri lake will be known as home stay village in uttarakhand

(Tourism News from The Himalayan Diary)

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!