राजस्थान के कटप्पा पत्थर से निखरेगी तृतीय केदार तुंगनाथ की छवि, इसी महीने होगा काम पूरा

by admin

देवभूमि उत्तराखंड (uttarakhand) में रुद्रप्रयाग जिले (rudraprayag) में प्रसिद्ध तृतीय केदार तुंगनाथ मंदिर (tungnath temple) को जल्द ही राजस्थान के कटप्पा पत्थर से सजाने संवारने का काम किया जाएगा। जिससे यह मंदिर पहले से भी अधिक सुंदर और आकर्षक लगेगा। यहां आने वाले श्रद्धालु व पर्यटकों को कुछ समय बाद मंदिर का अलग ही रूप देखने को मिलेगा। मंदिर के सौंदर्यीकरण के लिए 3 करोड़ 42 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे।

यहां सालभर भारी संख्या में श्रद्धालु व पर्यटन की दृष्टि से लोग आते हैं। ऐसे में मंदिर के सौंदर्यीकरण की ओर ध्यान दिया जा रहा है। राजस्थान से मंदिर को संवारने के लिए कटप्पा पत्थर मंगवा लिए गए हैं। जो मंदिर परिसर में 500 वर्ग फीट क्षेत्रफल में लगाए जा रहे हैं। इस पत्थर के लगने के बाद मंदिर की सुंदरता कई गुना तक बढ़ जाएगी। काम पूरा करने के लिए 25 सितंबर तक का लक्ष्य रखा गया है। इस पत्थर से मंदिर की सुंदरता को संवारने के साथ ही अन्य बुनियादी सुविधाओं को भी जल्द ही दुरुस्त किया जाएगा, जिससे यहां आने वाले श्रद्धालुओं को किसी भी तरह की असुविधा न हो।

tungnath temple rudraprayag uttarakhand
इस मंदिर को संवारने के लिए काफी समय से योजना बनाई जा रही थी। कुछ समय पहले ही मंदिर प्रशासन को पर्यटन विभाग की ओर से मंजूरी मिल गई थी। इसके लिए शासन की ओर से बजट भी पास किया गया। अब जल्द से जल्द मंदिर के सौंदर्यीकरण को पूरा करने का काम किया जा रहा है। जिससे यहां आने वाले श्रद्धालु व पर्यटकों को मंदिर का नया स्वरूप देखने के लिए मिल सके। मंदिर में रोजाना सैंकड़ों श्रद्धालु माथा टेकने के लिए आते हैं। जिसके लिए मंदिर में काफी व्यवस्था बनाई गई है। इस व्यवस्था में अभी और सुधार करने का प्रयास किया जा रहा है।

विश्व प्रसिद्ध तृतीय केदार तुंगनाथ एक ऐसा मंदिर है, जो गढ़वाल के रुद्रप्रयाग जिले में तुंगनाथ पर्वत पर स्थित है। तुंगनाथ मंदिर पंच केदार में से एक है और पंच केदारों में यह दूसरे नंबर पर आता है। पंच केदारों में सबसे अधिक ऊंचाई पर यह मंदिर है। इस मंदिर को हजार वर्ष से भी अधिक पुराना माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि यहां पर जाने से भगवान शिव श्रद्धालुओं की सभी मनोकामना पूरी करते हैं। यही वजह है कि यहां आने वाले श्रद्धालु खुशी खुशी 3680 मीटर की ऊंचाई पर बने इस मंदिर पर पैदल चढ़ाई करके सुगमता से पहुंच जाते हैं।

Uttarakhand में पंच केदारों के बारे में जानें

Web Title third kedar tungnath temple in rudraprayag uttarakhand will be beautified with katappa stone

(Religious News from The Himalayan Diary)

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!