हिमाचल प्रदेश के कल्पा में हुई बर्फबारी, पर्वतीय क्षेत्रों में ताजी बर्फबारी से तेज हुई शीतलहर

by Ravinder Singh

हिमाचल प्रदेश के पर्वतीय क्षेत्रों में ठंड ने अपना प्रकोप दिखाना शुरू कर दिया है। शुक्रवार को प्रदेश के कल्पा जैसे ऊंचाई वाले पर्यटन स्थलों पर बर्फबारी हुई, जबकि मनाली, लाहौल-स्पीति, किन्नौर, कुल्लू, शिमला और सिरमौर जिलों में सामान्य बारिश हुई। कल्पा में जहां 3 इंच तक बर्फबारी हुई, वहीँ पर्यटन स्थल मनाली में 2 मिलीमीटर तक बारिश दर्ज की गई है। बर्फबारी के चलते प्रदेश में शीतलहर बढ़ गई है। इस कारण प्रदेश के पर्वतीय क्षेत्रों में तापमान 3 से 4 डिग्री तक लुढ़क गया है। दोपहर के समय भी लोगों को अत्यधिक ठंड का सामना करना पड़ रहा है।

मौसम विभाग ने अनुमान जताया है कि आने वाले समय में वेस्टर्न डिस्टर्बेंस का पुरवइया हवाओं के साथ टकराव होगा जिसकी वजह से पहाड़ों के साथ-साथ मैदानी इलाकों में मौसम बदल जाएगा। इस कारण प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में 9 दिसंबर को बारिश और बर्फबारी हो सकती है। मौसम विभाग के अनुसार 10 दिसंबर को प्रदेश के कई हिस्सों में भारी बर्फबारी हो सकती है।

मौसम विभाग ने बताया है कि 13 दिसंबर तक प्रदेश में बारिश और बर्फबारी का सिलसिला जारी रहेगा। कई जगहों पर भारी बर्फबारी का अंदेशा भी मौसम विभाग ने जताया है। अगर जम्मू कश्मीर की बात की जाएं तो यहां के मैदानी इलाकों में भी बारिश होने की संभावना है। प्रदेश में इस समय वैसे भी अत्यधिक ठंड है, ऐसे में आने वाले समय में बर्फबारी के कारण ठंड का प्रचंड रूप देखने को मिल सकता है।

कल हुई बर्फबारी के बाद मनाली में तापमान 2.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि कल्पा का न्यूनतम तापमान 3.8 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है। प्रदेश की राजधानी शिमला का न्यूनतम तापमान 4.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि लाहौल-स्पीति का केलांग सबसे ठंडा इलाका रहा। केलांग का न्यूनतम तापमान 3.0 डिग्री गिरकर माइनस 9.9 तक पहुंच गया है। डल्हौजी में भी न्यूनतम तापमान 1.6 डिग्री सेल्सियस की गिरावट के साथ 3.4 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है।

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!