छोटी काशी में श्रावण महोत्सव में उमड़े श्रद्धालु, एक महीने चलेगा अखंड जाप

by Ravinder Singh

छोटी काशी के नाम से प्रसिद्ध हिमाचल प्रदेश के मंडी में हर वर्ष की तरह इस बार भी श्रावण मास महोत्सव (shravan mahotsav mandi) बड़े ही धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है। छोटी काशी में ब्यास नदी के किनारे पर स्थित भगवान एकादश रूद्र मंदिर में श्रावण मास की संक्रांति के दिन से 40वें श्रावण मास महोत्सव की शुरूआत हुई। विधिवत रूप से भगवान शिव की पूजा अर्चना और जलाभिषेक कर श्रावण मास महोत्सव का शुभारंभ किया गया है। श्रावण मास महोत्सव के दौरान भक्तों में उत्साह देखा जा रहा है। श्रद्धालु बड़ी संख्या में एकादश रूद्र मंदिर में पहुंच रहे हैं और भोलेनाथ की भक्ति करके उन्हें प्रसन्न करने का प्रयास कर रहे हैं।

विशाल भंडारे का आयोजन

श्रावण महीने के शुरू होते ही एकादश रूद्र मंदिर में ओम नमः शिवाय का अखंड पाठ भी शुरू हो गया है, जो पूरा महिना चलेगा। इस दौरान एक व्यक्ति एक घंटे के तय समय तक लगातार जाप करेगा। इस तरह दिन-रात 24 घंटे में 24 लोग अपने तय समय में रोजाना जाप करेंगे। मंदिर के गर्भ में रूद्राभिषेक व दोनों समय पूजा व आरती का विशेष महत्व है। श्रावण मास महोत्सव के दौरान एकादश रूद्र मंदिर में रोजाना विशाल भंडारे का आयोजन भी किया जाता है। इस दौरान हजारों लोग भगवान भोलेनाथ के प्रसाद को ग्रहण करते हैं। इसके अलावा सोमवार के दिन यहां पर खीर का लंगर भी लगाया जाता है।

shravan mahotsav mandi
दूध, माखन, जल चढ़ाते हैं भक्त

एकादश रूद्र मंदिर के पुजारी का कहना है कि श्रावण महिना श्रद्धालुओं में नया उत्साह लेकर आता है। इस महीने को भगवान शिव का प्रिय माना जाता है। भगवान शिव इतने भोले हैं कि वह मात्र जल चढ़ाने से ही श्रद्धालुओं की मनोकामना पूरी करते हैं। श्रावण महीने में श्रद्धालु भगवान शिव को बेल पत्र, पुष्प, दु्रवा, दूध, माखन व जल आदि चढ़ाते हैं। गौरतलब है कि हिंदू धर्म में श्रावण महीने का अत्यधिक महत्व है। इस महीने में देश भर के शिवालयों पर शिव भक्तों की भीड़ उमड़ती है।

shravan mahotsav mandi

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!