मंडी में जल्द बनेगा शिवधाम, स्थापित किए जाएंगे 12 ज्योर्तिलिंग

by Ravinder Singh

छोटी काशी के नाम से पहचाने जाने वाले हिमाचल प्रदेश के शहर मंडी (Mandi) में जल्द ही शिव धाम (Shiva Dham) बनाया जाएगा। इसके लिए मंडी में 12 ज्योर्तिलिंग स्थापित किए जाएंगे। इसके अलावा पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश सरकार जल्द ही गंगा आरती की तर्ज पर ब्यास आरती की शुरुआत भी करने जा रही है। यह निर्णय हाल ही में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में पर्यटन विभाग के कार्यों की समीक्षा बैठक के दौरान लिया गया। बैठक के दौरान पर्यटकों की भीड़ से पटे रहने वाले शिमला, मनाली और धर्मशाला में वैकल्पिक रास्ते तैयार करने पर विशेष काम किया जाएगा। इसके लिए रज्जू मार्ग, मोनो रेल, पॉड कार, एस्कलेटर की संभावनाओं पर विचार किया जाएगा। प्रदेश में कुछ जगहों पर रोप-वे का काम भी शुरू हो गया है।

मिलेगा पर्यटन को बढ़ावा

बैठक के बाद मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बताया है कि प्रदेश सरकार मंडी में शिव धाम विकसित करेगी। यहां 12 ज्योतिर्लिंग स्थापित किए जाएंगे और गंगा आरती की तरह ब्यास आरती का आयोजन किया जाएगा। इस परियोजना को लेकर तीन माह के भीतर विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार की जाएगी और नवंबर तक टैंडर मांगे जाएंगे। गौरतलब है कि इस परियोजना के पीछे सरकार का उद्देश्य प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देना है। पर्यटकों के बीच हिमाचल प्रदेश देवभूमि के नाम से प्रसिद्द है। यहां कई ऐतिहासिक और प्राचीन धार्मिक स्थल मौजूद हैं। यहां सालभर भारी संख्या में श्रद्धालुओं और पर्यटकों की आवाजाही लगी रहती है। ऐसे में काफी कुछ किए जाने की दरकार है।

shiva dham mandi
मुख्यमंत्री ने की कई परियोजनाओं की समीक्षा

इसके अलावा जयराम ठाकुर ने कहा कि मां चिंतपुर्णी में अतिरिक्त सुविधाएं बढ़ाने के साथ-साथ प्रसाद योजना के लिए केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय द्वारा 27.18 करोड़ रुपये मंजूर किए गए हैं। कांगड़ा हवाई अड्डे के विस्तार के लिए 153 एकड़ भूमि अधिग्रहण करने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है, जबकि मंडी जिले में अंतराष्ट्रीय हवाई अड्डा बनाने के लिए ‘ओएलएस’ सर्वेक्षण का काम पूरा हो चुका है। धर्मशाला में 150 करोड़ रुपये की लागत से रोप-वे प्रॉजेक्ट का काम जारी है। इनके अलावा भी मुख्यमंत्री ने कई परियोजनाओं की समीक्षा की।

इन लोकप्रिय खबरों को भी पढ़ें 

Web Title shiva dham will be developed in mandi

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!