बर्फबारी के कारण पर्यटकों के लिए एक बार फिर से बंद हुआ रोहतांग दर्रा, गुलाबा बना स्नो प्वाइंट

by Ravinder Singh

रविवार को हल्की बर्फबारी के बाद देश-दुनिया के पर्यटकों के बीच अपनी खास पहचान रखने वाला 13,050 फीट ऊंचा रोहतांग दर्रा एक बार फिर पर्यटकों के लिए बंद कर दिया गया है। खराब मौसम और रविवार को हुई बर्फबारी के बाद प्रशासन ने यह फैसला लिया है। बीते सप्ताह रोहतांग दर्रा पर दो से ढाई फीट बर्फबारी हुई थी, जिसे बीआरओ ने हटा कर दर्रा बहाल कर दिया था। लेकर बर्फबारी के चलते एक बार फिर से रोहतांग दर्रा को बंद कर दिया गया है। मौसम विभाग की चेतावनी के बाद मनाली प्रशासन ने गुलाबा तक ही पर्यटकों को जाने की अनुमति दी है।

बर्फबारी के चलते गुलाबा इन दिनों पर्यटकों के लिए स्नो प्वाइंट बना हुआ है। रविवार को 400 से अधिक पर्यटक वाहन गुलाबा पहुंचे। इससे यहां लंबे समय तक जाम लगा रहा। बता दे कि रविवार को भी रोहतांग दर्रे में हल्की बर्फबारी के बीच वाहनों की आवाजाही जारी रही। ख़राब मौसम के कारण एचआरटीसी ने केलंग कुल्लू पर बस सेवा को बंद कर दिया है। पैदल राहगीरों की मदद के लिए रोहतांग दर्रे में लाहुल स्पीति प्रशासन द्वारा रेस्क्यू पोस्ट स्थापित किया जाएगा। अब रोहतांग दर्रे पर वाहनों की आवाजाही फिर से कब शुरू होगी यह मौसम की परिस्थितियों पर निर्भर करेगा।

दूसरी तरफ कुछ दिन पहले ही बीआरओ ने लाहौल-स्पीति प्रशासन को अलर्ट कर दिया था और प्रशासन से दो दिन में खाद्यान्न और अन्य जरूरी सामान घाटी में पहुंचाने को कहा था। आम जनता को भी समय रहते रोहतांग दर्रा आर-पार करने के लिए कहा था। गौरतलब है कि पिछले कई दिनों से हिमाचल के ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी और बारिश का दौर चालू है। जिला प्रशासन कुल्लू ने पहाड़ों पर बर्फबारी व निचले इलाकों में बारिश होने का अनुमान जताते हुए 1 0 से 12 नवंबर के लिए अलर्ट जारी किया किया था। इस दौरान स्थानीय लोगों और पर्यटकों से ऊंचाई वाले स्थानों पर नहीं जाने के लिए कहा गया था।

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!