दिसंबर के पहले हफ्ते तक रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक बंद रहेगी मनाली में अटल टनल रोहतांग

by admin

हिमाचल प्रदेश (himachal) के मनाली (manali) में अटल टनल रोहतांग (atal tunnel) में 14 अक्टूबर से लाहौल घाटी के लिए 33 केवी बिजली लाइन बिछाने का काम किया जाएगा। जिसके चलते टनल रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक के लिए बंद रहेगी। इस दौरान टनल के आरपार किसी भी तरह के वाहनों की आवाजाही नहीं हो सकेगी। इसके लिए नोटिस जारी करते हुए सैलानियों से अपील की गई है कि वह नये शेड्यूल (new schedule) के बीच में ही टनल से होकर गुजरें।

बीआरओ की तरफ से अटल टनल रोहतांग में बिजली की लाइन बिछाने का काम शुरू कर दिया गया है। जिसके चलते काम के दौरान टनल के अंदर वाहनों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। बीआरओ की तरफ से नोटिस जारी करते हुए कहा गया है कि सैलानी यहां रात को 9 बजे से सुबह 6 बजे तक और दिन में दोपहर 2 बजे से 3 बजे तक न गुजरें। इस दौरान ट्रैफिक बंद रहेगा। वह इस समय के बीच में अटल टनल को पार करने की कोशिश न करें। यह नया शेड्यूल दिसंबर के पहले सप्ताह तक लागू रहेगा।

atal tunnel new schedule

Photo Source – the english post

दिसंबर तक लाइन बिछाने का काम पूरा हो जाने के बाद एक बार फिर से पर्यटकों के लिए शेड्यूल जारी कर दिया जाएगा। इससे पहले अटल टनल से होकर गुजरने वाले पर्यटकों को नए शेड्यूल का ध्यान रखना होगा। बीआरओ ने पहले सुबह 9 बजे से 10 बजे और शाम को 4 से 5 बजे तक टनल से ट्रैफिक बंद रखा था। इस प्रोजेक्ट के मुख्य अभियंता ब्रिगेडियर केवी पुरुषोत्तम के अनुसार टनल के अंदर बिजली लाइन बिछाने की वजह से रात के समय ट्रैफिक बंद किया जा रहा है।

मुख्य अभियंता के अनुसार दिसंबर के पहले सप्ताह तक यह काम पूरा कर लिया जाएगा। राज्य सरकार के साथ हुई विडियो कांफ्रेंस के बाद यह निर्णय लिया गया है। दरअसल सर्दियों में लाहौल घाटी में बर्फ पड़ने की वजह से काफी समय तक बिजली गुल रहती है। अब अटल टनल में बिजली लाइन बिछाने के बाद सर्दियों में भी लोग रोशनी में रह पाएंगे। टनल के साथ साथ घाटी के लोगों को भी अंधेरे में नहीं रहना पड़ेगा। टनल में काम पूरा होने के बाद ही नया शेड्यूल जारी कर दिया जाएगा। जिससे एक बार फिर पर्यटक बिना किसी बंदिश के टनल से गुजर सकेंगे।

Lahaul Spiti में इन जगहों के बारे में भी जानें

Web Title  new schedule to pass through atal tunnel rohtang in manali himachal

(Tourism News from The Himalayan Diary)

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!