ट्रैकर्स के लिए पहली पसंद है लाहौल स्पिति में दिलकश नजारों से भरपूर मियार घाटी

by Ravinder Singh

विशाल घास के मैदान, खूबसूरत पहाड़ियों और दिलकश नजारों की चाह में हर साल सैकड़ों की संख्या में ट्रैकर्स हिमाचल प्रदेश का रुख करते हैं। ट्रैकर्स के लिए हिमाचल प्रदेश (himachal pradesh) में कई खूबसूरत ट्रैक हैं। इन्हीं ट्रैक में से एक मियार घाटी (miyar valley) है । चारों ओर फैले हरे मैदान और बर्फीली नदियाें के लिए प्रसिद्ध मियार घाटी लाहौल-स्पीति (lahaul-spiti) जिले के उत्तर-पश्चिम में है। लगभग 100 किलोमीटर से ज्यादा इलाके में फैली मियार घाटी (miyar valley) से हिमाचल प्रदेश और लद्दाख दोनों का ही शानदार नजारा मिलता है। मियार घाटी में कई तरह के खूबसूरत फूल भी खिलते हैं, यही कारण है कि स्थानीय लोग मियार घाटी को वैली ऑफ फ्लावर्स भी कहते हैं।

मध्यम कठिनाई का ट्रैक

मियार घाटी की खासियत यह है कि यहां का ट्रैक मध्यम कठिनाई का है। बता दें कि मियार घाटी में पांच दिन का ट्रैक है, जो मियार घाटी के आखिरी गांव खज्जर से शुरू होता है। हालांकि यह जरूरी नहीं है कि 5 दिनों तक ही ट्रैकिंग की जाए। कई लोग एक दिन में ही ट्रैक खत्म करते हैं। कई लोग घाटी में 10 किलोमीटर तक जाकर ही वापस लौट आते हैं। ट्रैकिंग के शौकीनों को मियार घाटी काफी पसंद आती है। यहां कुदरत का अद्भुत नज़ारा देखने को मिलता है। विशाल घास के मैदानों पर ट्रैकिंग करना रोमांचक अनुभव देता है। यहां सबसे बढ़िया पॉइंट मियार ग्लेशियर के ठीक नीचे है, जहां आप ग्लेशियर से बनी झीलों के पास ही कैंप लगा सकते हैं।

miyar valley lahaul spiti

Source – Potala Adventurers

खूबसूरत नजारे

मियार घाटी में ट्रैकिंग के दौरान आप एक नहर को पार कर ढोकसर के विशाल घास के मैदान तक पहुंचते हैं। यहां का नजारा काफी मनमोहक है। इसके अलावा आप यहां कैसल पीक के खूबसूरत नजारे का मजा ले सकते हैं। यहां आप अपनी आंखों के सामने कैसल पीक को हरे से सूखे भूरे रंग में बदलते हुए देख सकते हैं। यहां याक, जंगली घोड़े और गरुड़ों के भी दीदार होते हैं। मियार घाटी में ट्रैकिंग के दौरान आपको कई झीलों को पार करना होता है। आप यहां झीलों के किनारे बढ़िया समय भी बिता सकते हैं। यहां से दिखाई देने वाला शानदार नजारा आपकी सारी थकान मिटा देगा।

कैसे पहुंचे मियार घाटी

मियार घाटी में ट्रैकिंग की शुरुआत खज्जर गांव से शुरू होती है। यहां पहुंचने के लिए शुक्टो से 30 मिनट का पैदल सफर तय करना पड़ता है। शुक्टो के लिए केलोंग से एचआरटीसी की बस मिलती है। आप आसानी से मनाली से केलोंग तक पहुंच सकते हैं। मियार घाटी से नजदीकी हवाई अड्डा भुंतर में है। यह हवाई अड्डा नई दिल्ली से जुड़ा है। भुंतर हवाई अड्डे से केलोंग जाने के लिए टैक्सी और कैब किराए से मिलती हैं। मियार घाटी से निकटतम रेलवे स्टेशन जोगिंदर नगर में है। यह एक छोटी लाइन रेलवे स्टेशन है। जो मुख्य लाइन से पठानकोट में जुड़ता है।

Lahual Spiti की इन जगहों के बारे में भी पढ़ें

Web Title miyar valley in lahaul spiti of himachal pradesh

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!