हिमाचल प्रदेश के मंडी जिला क्षेत्र में धुंध का प्रकोप, वाहनों की रफ़्तार पर पड़ रहा है असर

by Ravinder Singh

इन दिनों सर्दी ने हिमाचल प्रदेश को पूरी तरह अपने आगोश में ले लिया है। ठंड का असर निचले इलाकों में भी देखने को मिल रहा है। सर्दी के चलते मंडी जिला के बल्ह, नाचन और सुंदरनगर में चारों और धुंध फैली हुई है। धुंध के कारण क्षेत्र का एयर इंडेक्स भी नीचे गिर गया है। धुंध का सबसे ज्यादा असर वाहन चालकों पर देखा जा रहा है। धुंध के कारण जहां एक तरह गाड़ियों के रफ़्तार पर असर पड़ा है, वहीँ दूसरी ओर दिन के समय भी वाहनों की लाइटें जला कर वहां चलाने पड़ रहे है।

चंडीगढ़-मनाली नेशनल हाइवे 21 पर धुंध का साफ़ असर देखा जा सकता है। धुंध फैलने के कारण तापमान में भी गिरावट देख जा रही है, जिस कारण लोगों को गर्म कपड़े और आग जलाकर सर्दी से निपटना पड़ रहा है। मौसम विभाग शिमला ने जानकारी देते हुए बताया कि आने वाले पांच दिसंबर तक मौसम साफ़ रहेगा। धुंध के कारण थाना प्रभारी सुंदरनगर ने वाहन चालकों को सलाह दी है कि वह वहां सावधानी से चलाए।

उन्होंने कहा है कि सुंदरनगर का कुछ हिस्सा नहर के किनारे बसा है, जबकि नेशनल हाइवे भी नहर से होकर ही गुजरता है। नहर के कारण फैली बल्ह और नाचन के क्षेत्रों पर धुंध का असर पड़ता है। ऐसे में स्थानीय लोगों व वाहन चालकों को सलाह दी जाती है कि वह वाहनों को सावधानी से चलाएं ताकि किसी तरह का कोई हादसा नहीं हो।

गौरतलब है कि नवंबर के महीने में उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर के पहाड़ी इलाकों में रुक-रुक कर बर्फबारी भी हुई. पहाड़ी इलाकों में इस साल तय समय से पहले ही बर्फबारी शुरू हो गई थी. बर्फबारी के हालात यह रहे कि नवंबर के महीने में बर्फबारी का जम्मू कश्मीर का 32 साल पुराना रिकॉर्ड टूट गया।

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!