जम्मू के कठुआ के पास है मिनी गोवा कहा जाने वाला पूरथू, अटल सेतु ब्रिज से होकर पहुंचते हैं पर्यटक

by admin

अगर आप गोवा, मुंबई और दमन दीव जैसे बीच (समुद्रतट) पर घूमने के बाद किसी नए आकर्षक और शांत समुद्रतट की तलाश में हैं, तो आपकी यह खोज जम्मू (jammu) के कठुआ में बसोहली (Basholi) के पास स्थित पूरथू (Purthu) में जाकर खत्म हो सकती है। इस विशाल झील का निर्माण महाराजा रंजीत सागर बांध के पानी से हुआ है। इस वजह से इस जगह को मिनी गोवा भी कहते हैं। यहां का मौसम पर्यटकों को खासतौर पर अपनी तरफ आकर्षित करता है। यहां बना अटल सेतु ब्रिज पर्यटकों का ध्यान अपनी ओर खींच लेता है, क्योंकि यह पूरी तरह से केबल पर बना हुआ है। रविवार को यहां काफी पर्यटकों को देखा जा सकता है। यहां मनोरंजन के लिए भी काफी कुछ मौजूद है। अक्सर यहां सैलानी परिवार और दोस्तों के साथ शाम बिताने के लिए यहां पहुंचते हैं। कुछ ही समय में पूरथू ने काफी संख्या में पर्यटकों को अपनी तरफ आकर्षित किया है। जिसकी वजह है इसका तट का गोवा की तरह होना।

हरे भरे मैदान, ताजे नीले रंग का पानी और खजूर के पेड़ से घिरा है पुरथू
मिनी गोवा कहे जाने वाले पूरथू की खासियत यहां का मौसम है। जहां जाने पर आप खुद को तीन तरफ से ताजे नीले रंग के पानी से घिरा हुआ पाएंगे। पानी की यह तरंगें आपका मन शांत करने में काफी मदद करती हैं। दूर-दूर तक हरे भरे मैदान और खजूर के पेड़ समुद्रतट का सौंदर्य बढ़ाते हैं। इस जगह तक पहुंचने के लिए रावी नदी पर बना 592 मीटर लंबे अटल सेतु ब्रिज पार करना पड़ता है। यह ब्रिज पूरी तरह से केबल पर बना हुआ है। भारत में ऐसे ही तीन अन्य ब्रिज भी बनाए गए हैं। बसोहली में बना यह ब्रिज भारत के तीन राज्यों पंजाब, जम्मू, कश्मीर और हिमाचल प्रदेश की कनेक्टिविटी को बेहतर करने के लिए बनाया गया है।

purthu basholi jammu

Source – pathankot city

रोमांचक गतिविधि करने का भी मिलता है भरपूर मौका

यहां मजेदार चीजें करने के लिए मोटर बोट की सवारी व अन्य खेलों का लुत्फ भी उठा सकते हैं। मौजूदा समय में पुरथू जम्मूवासियों समेत पंजाब और हिमाचल के लोगों के लिए पसंदीदा स्थानों में जगह बना चुका है। यहां पर्यटकों की काफी भीड़ पहुंचती है, जो कैमरे से फोटो खींचकर इस पल को यादगार बनाते हैं। यहां अक्सर नवविवाहित जोड़े भी कैमरों व आसमान में उड़ते हुए ड्रोन के सामने नाचते हुए देखे जाते हैं। प्री-वेडिंग शूट के लिए भी इस जगह को अब चुना जाने लगा है। कई पर्यटक यहां रातें बिताने के लिए भी आते हैं, उनके लिए यहां के स्थानीय लोग छोटे टैंट की भी व्यवस्था करके रखते हैं। वहीं कई पर्यटक यहां कुकिंग भी करते हैं। यहां के स्थानीय लोग भी पर्यटकों को चाय और नाश्ता मुहैया कराते हैं।

कैसे पहुंचें पूरथू
पर्यटक यहां सीधे रेल या हवाई मार्ग से नहीं पहुंच सकते। यहां पहुंचने के लिए आपको जम्मू या पठानकोट पहुंचना होगा। पठानकोट हवाई अडडे से 50 किलोमीटर दूर बसोहली है। वहीं रेल मार्ग से जिला कठुआ तक पहुंचा जा सकता है। जहां से बसोहली 32 किलोमीटर ही दूर है। यहां से आपको प्राइवेट गाड़ी या स्थानीय वाहनों की मदद पूरथू तक पहुंचने के लिए लेनी होगी। बसोहली से केवल 2 किलोमीटर की दूरी पर ही मिनी गोवा कहा जाने वाला पूरथू  है।

Jammu से जुड़ी इन खबरों को भी पढ़ें

Web Title mini goa purthu basholi in jammu

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!