Shimla के पास आज भी देखने को मिलता है महाभारत काल से जुड़ा यह साक्ष्य

by vagavogue

हिमाचल प्रदेश को देवों की भूमि कहा जाता है। यहां अनेक ऐतिहासिक और प्रसिद्द धार्मिक स्थल है। खास बात यह है कि आज भी हिमाचल की धरती पर रामायण और महाभारत काल (mahabharata period) से जुड़ी घटनाओं के प्रत्यक्ष प्रमाण देखने को मिलते हैं। इन प्रमाणों को देख लोग भी आश्चर्य में पड़ जाते हैं। ऐसा ही प्रत्यक्ष प्रमाण शिमला (shimla) अर्की के दानोघाट में देखने को मिलता है। यहां एक विशालकाय शिला (stone) पर दूसरी विशालकाय शिला रखी हुई है। मान्यता है कि यह शिला महाभारत काल से ही इसी तरह एक के ऊपर एक रखी हुई है।
पौराणिक मान्यता
पौराणिक मान्यताओं के अनुसार अज्ञातवास के दौरान जब पांडव हिमाचल के धामी आये थे, तो पांच पांडवों में से एक भीम ने धामी से गुलेल के जरिये इस शिला को फेंका था। यह शिला अर्की के दानोघाट में जाकर एक शिला पर अटक गई थी। इसके बाद से ही यह शिला यहीं स्थापित है। यह पत्थर हजारों वर्षों से इसी स्थान पर एक पत्थर पर टिका हुआ है। भारी भरकम इस पत्थर को देखने से सभी आश्चर्यजनक रह जाते हैं कि यह आज दिन तक कैसे टिका है।

Source – blackzlife

दूर-दूर से देखने आते हैं लोग
शिमला-बिलासपुर नैशनल हाईवे से कुछ दूरी पर स्थित ढलानदार जगह पर एक के ऊपर एक टिकी हुई इस विशालकाय शिला को देखने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं। खास बात यह है कि आंधी-तूफान व भूकंप आने पर भी इस पत्थर को आज दिन तक कोई नुकसान नही पहुंचा है।
mahabharata period stone shimla

You may also like

Leave a Comment