उत्तराखंड घूमने आने के लिए नियमों का सख्ती से करना होगा पालन, हिमाचल में इनका रखें ध्यान

by admin

अगर आप उत्तराखंड (uttarakhand) में किसी पर्यटन स्थल (tourist destinations) पर जाने की योजना बना रहे हैं तो यहां आने से पहले सरकार की ओर से कोविड को लेकर जारी किए गए नए दिशा निर्देशों के बारे में जरूर जान लें, जिसका सख्ती से पालन करना जरूरी है। 21 सितंबर से यह आदेश उत्तराखंड में प्रभावी हो गए हैं। वहीं अगर आप हिमाचल प्रदेश (himachal pradesh) आने के लिए भी राज्य पुलिस ने पर्यटकों के लिए एडवाइजरी जारी की है। यहां आने वाले पर्यटकों को सामाजिक दूरी का पालन, फेस मास्क लगाना और जगह जगह पर हाथ सैनिटाइज करने होंगे। ऐसा न करने पर पुलिस की ओर से कार्रवाई की जा सकती है।

उत्तराखंड सरकार ने अन्य राज्यों से आने वाले पर्यटकों के लिए नए आदेश जारी किए हैं। जिनके तहत पर्यटकों को अब होटल या होम स्टे में कम से कम दो रात की बुकिंग करानी जरूरी होगी। उत्तराखंड आते समय अपने साथ चार दिन की कोविड निगेटिव रिपोर्ट लानी होगी। अगर कोविड निगेटिव रिपोर्ट किसी पर्यटक के पास नहीं है तो प्रशासन थर्मल टेस्ट की व्यवस्था करेगा। उस दौरान कोरोना के लक्षण पाए जाने पर एंटीजन टेस्ट कराया जाएगा। उत्तराखंड में आने वाले यात्रियों के पास एक विकल्प यह भी रहेगा कि वह सीमा चेक पोस्ट, एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन या आईसीएमआर अधिकृत कोविड टेस्टिंग लैब से भुगतान कर खुद एंटीजन टेस्ट भी करा सकते हैं।

tourist destination uttarakhand himachal
होटल प्रबंधक भी पर्यटकों के लिए निजी लैब संचालकों से कोविड टेस्ट की व्यवस्था करा सकते हैं। जिस होटल में भी पर्यटक ठहर रहे हैं, उन होटल के संचालकों को यह सुनिश्चित करना होगा कि पर्यटकों को प्रवेश देने से पहले उनका कोविड टेस्ट अनिवार्य रूप से कर लिया जाए। अगर किसी पर्यटक का कोविड टेस्ट पाॅजिटिव आता है तो जिला प्रशासन को तुरंत इसकी सूचना अनिवार्य रूप से देनी होगी। राज्य में नए आदेशों के तहत बाॅर्डर चेक पोस्ट, एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन और जिलों के सीमावर्ती बस अड्डों पर थर्मल स्कैनिंग अनिवार्य कर दी गई है। ऐसे पर्यटक जो अपने साथ चार दिन की कोरोना निगेटिव रिपोर्ट लेकर आ रहे हैं उन्हें होम क्वारंटीन नहीं होना पड़ेगा।

उत्तराखंड आने से पहले कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना होगा। व्यक्ति को स्मार्ट सिटी की वेबसाइट पर पंजीकरण कराना होगा। अपने मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करनी होगी। रजिस्ट्रेशन के समय जो डाॅक्यूमेंट्स मांगे गए हैं, वह सभी अपलोड करने पड़ेंगे। जो लोग सात दिन से कम समय के लिए व्यवसाय, उद्योग या किसी बीमारी के इलाज के लिए आदि कार्यों से आ रहे हैं उन्हें क्वारंटीन नहीं होना पड़ेगा। वहीं सात दिन से अधिक दिन के लिए जो लोग राज्य में आएंगे उन्हें सेल्फ क्वारंटीन होना पड़ेगा।

Uttarakhand में इन जगहों के बारे में भी जानें

Web Title know these rules before going to visit tourist destinations of uttarakhand and himachal

(Tourism News from The Himalayan Diary)

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!