केदारनाथ धाम में 10 हजार कटवा पत्थर से होगा आदि गुरू शंकराचार्य समाधि स्थल का जीर्णोद्धार

by admin

उत्तराखंड (uttarakhand) के केदारनाथ धाम (kedarnath) में आदि गुरू शंकराचार्य समाधि (aadi shankaracharya samadhi) स्थल के जीर्णोद्धार के लिए 10 हजार कटवा पत्थर बिछाए जाएंगे। जिससे समाधि स्थल का सौंदर्य पहले से अधिक बढ़ जाएगा। यह पत्थर राजस्थान के श्रमिकों से लंबे समय से तैयार कराए जा रहे हैं। समाधि स्थल को पहले से भी अधिक दिव्य बनाने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। कटवा पत्थर लगाने के अलावा समाधि स्थल पर कई अन्य कार्य भी किए जा रहे हैं।

समाधि स्थल तक पहुंचने के लिए दिव्य शिला से 60 मीटर लंबा रास्ता बनाया जाएगा। रास्ते के आखिरी छोर पर घुमावदार रैंप बनाई जाएगी। जिसके दो चक्कर लगाने के बाद समाधि स्थल तक पहुंचा जा सकेगा। समाधि स्थल तक पहुंचने व बाहर निकलने के लिए अलग-अलग रास्ते बनाए जा रहे हैं। समाधि स्थल से चक्कर लगाने के बाद श्रद्धालु बाहर निकलेंगे तो वह भैरवनाथ मंदिर की दिशा वाले रास्ते में पहुेंगे। इन दोनों ही रास्तों पर कटवा पत्थर बिछाए जा रहे हैं। इसी कटवा पत्थर के पिलर भी निश्चित दूरी पर लगाए जा रहे हैं। इन पत्थरों पर आदिगुरू शंकराचार्य से जुड़ी जानकारी और श्लोक लिखे रहेंगे।

aadi shankaracharya samadhi kedarnath

समाधि स्थल को कटवा पत्थर से सजाने के लिए पिछले चार महीने से राजस्थान के श्रमिक और स्थानीय कारीगर बोल्डरों से कटवा पत्थर तैयार करने में लगे हुए हैं। अभी तक सात हजार के लगभग कटवा पत्थर तैयार किए जा चुके हैं। आगामी दो माह में जरूरी पत्थर तैयार कर दिए जाएंगे। इससे पहले मंदिर में 2014 से 2016 के बीच में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग की ओर से मंदाकिनी नदी किनारे पड़े बोल्डरों से राजस्थान के 32 कारीगरों ने 300 से अधिक कटवा पत्थर तैयार किए थे। जिनसे केदारनाथ मंदिर के पश्चिमी द्वार की मरम्मत की गई थी।

केदारनाथ में इस काम को करने वाली कंपनी के अनुसार आदिगुरू शंकराचार्य के समाधि स्थल के प्रवेश द्वार से लेकर निकासी मार्ग में 10 हजार कटवा पत्थर बिछाए जाने हैं। जिससे वहां की सुंदरता और भी बढ़ जाएगी। अभी तक 7 हजार पत्थर ही तैयार हुए हैं। आगामी दो माह में अन्य पत्थर भी तैयार किए जाएंगे। समाधि स्थल को पूरी तरह से तैयार करने में अभी 4 से 5 महीने का समय लग जाएगा। इसके बाद यहां आने वाले श्रद्धालुओं को समाधि स्थल का बदला स्वरूप देखने को मिलेगा।

Uttarakhand के इन प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों के बारे में भी पढ़ें

Web Title katwa stones to be planted in aadi shankaracharya samadhi site in kedarnath dham uttarakhand

(Religious News from The Himlayan Diary)

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!