हिमाचल प्रदेश के पर्यटन स्थलों का दीदार करना हुआ आसान, सरकार ने नियमों में दी है छूट

by Ravinder Singh

हिमाचल प्रदेश (himachal pradesh) के खूबसूरत पर्यटन स्थलों (tourism destinations) जाकर घूमने की चाहत रखने वाले पर्यटकों के लिए बड़ी खुशखबरी है। पर्यटकों को अब प्रदेश के पर्यटन स्थलों का मजा लेने के लिए कड़े नियमों का सामना नहीं करना पड़ेगा। हिमाचल प्रदेश सरकार ने प्रदेश में पर्यटकों (tourists) के प्रवेश करने के लिए बनाए गए नियमों में ढील (relaxations) दे दी है। अब तक हिमाचल प्रदेश में आने वाले पर्यटकों के लिए कोरोना (corona) का आरटीपीसीआर टेस्ट अनिवार्य था, लेकिन अब सरकार ने आरटीपीसीआर टेस्ट के साथ ही सीबीनॉट और ट्रूनॉट टेस्ट रिपोर्ट को भी मान्य कर दिया है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार इन तीन रिपोर्ट के साथ पर्यटकों को प्रदेश में प्रवेश दिया जाएगा। हालांकि अभी भी रैपिड एंटीबॉडी टेस्ट (rapid antibody test) की रिपोर्ट मान्य नहीं होगी।

दो रात की बुकिंग से भी होगा प्रवेश

हिमाचल प्रदेश सरकार ने पर्यटकों के लिए पांच दिन की एडवांस बुकिंग को घटाकर दो रात कर दिया है। यानी अब पर्यटक दो रात की एडवांस बुकिंग करवाकर भी हिमाचल प्रदेश आ पाएंगे। साथ ही सरकार ने कोरोना की जांच रिपोर्ट के समय को भी बढ़ा दिया है। अब पर्यटक 96 घंटे पहले की कोरोना रिपोर्ट के साथ भी प्रदेश में प्रवेश कर पाएंगे। इससे पहले यह समय 72 घंटे था। प्रदेश सरकार ने दस साल से कम आयु के बच्चों की कोविड जांच रिपोर्ट देने की शर्त को भी हटा दिया है। हिमाचल प्रदेश सरकार ने सिर्फ पर्यटकों को ही छूट नहीं दी है, बल्कि कोरोना संकट के कारण होटल कारोबारियों को हो रहे नुकसान की भरपाई के लिए भी कुछ छूट दी हैं।

himachal pradesh government

Source – Liamtra

तीन महीने से बंद था पर्यटन

कोरोना संकट के कारण हिमाचल प्रदेश में तीन महीने से भी अधिक समय तक पर्यटन से जुड़ी गतिविधियां बंद थीं। बीते दिनों हिमाचल प्रदेश सरकार ने कुछ शर्तों के साथ प्रदेश में पर्यटन गतिविधियां शुरू करने की मंजूरी दी थी। इसके तहत पर्यटकों को हिमाचल प्रदेश आने से पहले पंजीकरण करवाना होगा। यह नियम अब तक लागू है, इसमें किसी तरह की छूट नहीं दी गई है।

Himachal Pradesh की इन धार्मिक जगहों के बारे में भी पढ़ें

Web Title himachal pradesh government gives relaxations in tourism related activities

(Tourism News from The Himalayan Diary)

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!