5 महीने से बंद मनाली-लेह रूट खुला, लॉकडाउन के बाद ऊंचे दर्रों पर घूमने का रोमांच महसूस कर सकेंगे पर्यटक

by admin

भारी बर्फबारी की वजह से पिछले 5 महीनों से बंद मनाली लेह रूट (manali leh route) को एक बार फिर से खोल (open) दिया गया है। यह रूट हिमाचल प्रदेश (himachal) के कई पर्यटन स्थलों (tourism places) को जोड़ने का काम करता है। सीमा सड़क संगठन ने लाहौल घाटी और लद्दाख की तरफ यातायात को सुनिश्चित करने के लिए राजमार्ग पर पड़ी बर्फ को पूरी तरह से साफ कर दिया है। इस हाईवे के फिर खुल जाने से आवश्यक आपूर्ति के साथ-साथ स्थानीय लोगों को लेह जाने में भी आसानी होगी। लॉकडाउन के बाद सैलानी (tourists) भी इस रूट पर घूमने का रोमांच महसूस कर पाएंगे। इस 475 किलोमीटर लंबे राजमार्ग पर हर साल 6 महीने से अधिक समय तक बर्फ पड़ी रहती है। गर्मियां आने पर सीमा सड़क संगठन को बर्फ हटाने के लिए हर साल जुटना पड़ता है।

सीमा सड़क संगठन के अनुसार मनाली और लेह के बीच यातायात फिर से शुरू कर दिया गया है। इस बार इसे पहले ही खोल दिया गया है। इस मार्ग पर फरवरी में ही बर्फ हटाने का काम शुरू कर दिया गया था। रूट पर पड़ने वाले पांच बहुत ऊंचाई वाले दर्रों से एक-एक कर बर्फ को साफ किया गया। तांगलांग ला 17,582 फीट की ऊंचाई पर है, सबसे ऊंचे इस दर्रे को मार्च के पहले सप्ताह में साफ कर लिया गया था। सबसे खतरे वाला बारालाचा पास समुद्र तल से 16,000 फीट की ऊंचाई पर है और इसे इस महीने की शुरुआत में सबसे अंत में क्लियर किया गया।

Manali leh highway himachal
इस हाईवे पर अन्य ऊंचाई वाले दर्रों में लाचुंग ला 16600 फीट, नकेला 15647 फीट और रोहतांग समुद्र तल से 13050 फीट की ऊंचाई पर है। सीमा सड़क संगठन ने बर्फ से घिरे मार्गों को साफ करने के लिए उच्च तकनीक वाली मशीनरी का उपयोग किया है। बर्फ निकालने के लिए विशेष सैनिकों को शामिल करने के बाद फरवरी महीने में ही काम शुरू कर दिया गया था। इस रूट पर बीआरओ के प्रोजेक्ट दीपक के अंतर्गत 222 किलोमीटर लंबे सारचू-मनाली (sarchu manali) मार्ग और प्रोजेक्ट हिमांक के तहत 253 किलोमीटर लंबे लेह सारचू (leh sarchu) हाईवे की देखभाल की जाती है।

Manali Leh रूट के बारे में यह भी जानें

Web Title himachal manali leh route open for tourists

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!