श्रद्धालुओं के लिए खुशखबरी, फूलों की घाटी के बाद अब जल्द हेमकुंड साहिब के कपाट खोलने की तैयारी

by Ravinder Singh

श्रद्धालुओं के लिए खुशखबरी है। उत्तराखंड (uttarakhand) के चमोली (chamoli) जिले में स्थित सिखों के एक प्रसिद्ध तीर्थ स्थान हेमकुंड साहिब (hemkund sahib) के कपाट जल्द ही खोले जाएंगे। कोरोना संकट (corona crisis) के चलते अब तक हेमकुंड साहिब (hemkund sahib) के कपाट नहीं खोले जा सके हैं, जबकि अब तक 1 जून को हेमकुंड साहिब के कपाट खुल जाया करते थे। अब हेमकुंड साहिब मैनेजमेंट ट्रस्ट ने हेमकुंड साहिब के कपाट खोलने का निर्णय ले लिया है। मैनेजमेंट ट्रस्ट का कहना है कि हेमकुंड साहिब के कपाट खोलने के लिए प्रशासन से अनुमति ली जाएगी। अनुमति मंजूरी मिलते ही और यात्रा मार्ग पर सुविधाएं जुटाने के बाद हेमकुंड साहिब के कपाट खोल दिए जाएंगे।

सुविधाएं जुटाने की मांग

हेमकुंड साहिब के कपाट खोले जाने को लेकर गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी ने जोशीमठ एसडीएम क एक ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन में कमेटी की ओर से मांग की गई है कि हेमकुंड यात्रा मार्ग व गुरुद्वारे में बिजली, पानी व मार्ग सुधार समेत सभी सुविधाएं जुटाई जाएं। इस संबंध में गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के वरिष्ठ प्रबंधक का कहना है कि घांघरिया और हेमकुंड साहिब गुरुद्वारा को ज्यादा समय तक बंद नहीं रखा जा सकता है। प्रशासन से मांग की गई है कि  हेमकुंड साहिब और यात्रा मार्ग में बिजली, पानी व मार्ग सुधार जल्दी की जाए। मंजूरी मिलते ही हेमकुंड साहिब की व्यवस्था सुचारु करने के लिए सेवादारों को भेजा जाएगा।

hemkund sahib uttarakhand

Source – sacredyatra

श्री गुरु गोबिंद सिंह ने की थी साधना

श्री हेमकुंड साहिब गुरुद्वारा सिखों के सबसे पवित्र स्थानों में से एक है। यहां पर सिखों के दसवें और अंतिम गुरु श्री गुरु गोबिंद सिंह ने साधना की थी। इस जगह का उल्लेख दसम ग्रंथ में भी है, जो स्वयं गुरु जी द्वारा लिखी गई है। इस जगह का इतिहास रामायण काल से भी जुड़ा हुआ है। मान्यता है कि भगवान लक्ष्मण ने इसी जगह पर ध्यान लगाया था। श्री हेमकुंड साहिब पर स्थित झील और उसके आसपास के क्षेत्र को ‘लोकपाल’ के नाम भी जाना जाता है, जिसका अर्थ होता है ‘लोगों का निर्वाहक’। यह जगह दो सदियों से भी अधिक समय तक गुमनामी में रही। बाद में गुरु के तप स्थान की खोज में निकले सिखों द्वारा हेमकुंड की खोज की गई। आज हेमकुंड में जो गुरुद्वारा स्थित है, उसकी स्थापना 1960 के आस-पास की गई थी।

Uttarakhand Chamoli के इन धार्मिक स्थलों के बारे में भी पढ़ें

Web Title hemkund sahib will be opened soon in uttarakhand

(Religious News from The Himalayan Diary)

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!