अब उत्तराखंड आने वाले विदेशी पर्यटकों को यहां की संस्कृति समझना होगा और भी आसान

by Ravinder Singh

अब से उत्तराखंड (uttarakhand) आने वाले देशी और विदेशी पर्यटकों के लिए यहां की संस्कृति और खान-पान को अच्छी तरह समझना और भी ज्यादा आसान हो जाएगा। हाल ही में उत्तराखंड राज्य विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद (यूकॉस्ट) कार्यालय में पर्यटकों के लिए में ‘हेलो उत्तराखंड’ एेप (hello uttarakhand app) लांच किया गया है। इस एेप को पब्लिक रिलेशन सोसाइटी के उत्तराखंड चैप्टर के सदस्य ने तैयार किया है। इस एेप के माध्यम से देश के अन्य हिस्सों और विदेशों से उत्तराखंड आने वाले पर्यटकों को काफी सहूलियत होने वाली है। इस एेप से किसी भी देश का व्यक्ति अपनी मातृभाषा का गढ़वाली, कुमाऊंनी और जौनसारी में अनुवाद कर सकता है।

पर्यटकों को होती है परेशानी

उत्तराखंड अपने प्राकृतिक सौन्दर्य, खूबसूरत पर्यटन स्थलों और ऐतिहासिक धार्मिक स्थलों के लिए पूरी दुनिया में जाना जाता है। हर साल बड़ी संख्या में देशी और विदेशी पर्यटक उत्तराखंड के पर्यटन स्थलों का दौरा करने के लिए पहुंचते हैं। यहां साल भर देसी और विदेशी सैलानियों की भी भरमार रहती है। उत्तराखंड में बड़े शहरों के साथ-साथ दूरस्थ क्षेत्रों में कई पर्यटन स्थल हैं। इन पर्यटन स्थलों का दौरा करते समय विदेशी सैलानियों को जिस समस्या का सबसे ज्यादा सामना करना पड़ता है, वह है स्थानीय बोली यानी भाषा। पर्यटक गढ़वाली, कुमाऊंनी और जौनसारी भाषा की समझ ना होने के कारण यहां की संस्कृति और खान-पान को अच्छी तरह नहीं समझ पाते।

hello uttarakhand app

Source – Jagran

उत्तराखंड की संस्कृति समझना होगा आसान

पर्यटकों की इसी समस्या का समाधान करने के लिए यह एेप तैयार किया है। इस एेप के माध्यम से पर्यटक अपनी भाषा का गढ़वाली, कुमाऊंनी और जौनसारी में अनुवाद कर सकते हैं। ऐसा होने से पर्यटक उत्तराखंड की संस्कृति और खान-पान को अच्छी तरह समझ पाएंगे। इस एेप के माध्यम से उत्तराखंड में पर्यटन व्यवसाय को भी नया आयाम मिलेगा। एेप को तैयार करने वाले पब्लिक रिलेशन सोसाइटी के सदस्य ने बताया कि फिलहाल इस एेप का बीटा वर्जन लांच किया गया है। यह एेप गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध है। फरवरी 2020 में इसे बड़े स्तर पर लांच किया जाएगा। फिलहाल यह एेप 100 भाषाओं में अनुवाद कर सकती है।

इन लोकप्रिय खबरों को भी पढ़ें 

Web Title hello uttarakhand app

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!