शिमला में हेलीपोर्ट निर्माण कार्य अंतिम चरणों में, पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा

by Ravinder Singh

शिमला (shimla) में संजौली-ढली बाईपास पर हेलीपोर्ट लगभग तैयार होने को है। इस हेलीपोर्ट (heliport) के तैयार होने से पर्यटकों को काफी सुविधा होगी। इससे पर्यटन (tourism) को बढ़ावा मिलेगा। संजौली-ढली बाईपास के पास बनरेडू नाम की जगह पर बनाए जा रहे इस हेलीपोर्ट से बाहरी राज्यों के पर्यटकों को प्रदेश में लाने के लिए कनेक्टिविटी को आसान किया जा सकेगा। यहां से हेली टैक्सी सहित चार्टर्ड फ्लाइट्स की लैंडिंग और टेक ऑफ की सुविधा होगी। यहां नियमित रूप से हेली टैक्सी व अन्य प्राइवेट चॉपर्स उड़ान भरेंगे। हेलीपोर्ट को फंक्शनल रखने के लिए नागरिक उड्डयन विभाग की पवन हंस सहित अन्य निजी चॉपर्स संचालकों से बात की जा रही है।

दो महीने में होगा तैयार

दरअसल हेलीपोर्ट का निर्माण अंतिम चरणों में है। उम्मीद है कि दो महीने में यह तैयार हो जाएगा। इसके बाद तमाम जरूरी व्यवस्था कर हेलीपोर्ट का संचालन शुरू कर दिया जाएगा। यहां पर वह सारी सुविधाएं होगी जो एयरपोर्ट पर रहती हैं। यात्रियों की सुविधा के लिए टर्मिनल बिल्डिंग का निर्माण किया जा रहा है। हेलीपोर्ट में यात्रियों की चेकिंग और सुरक्षा की दृष्टि से स्कैनर लगाए जाएंगे। यहां एंट्री और एग्जिट प्वाइंट बनेंगे। हैलीपोर्ट 0।77 हैक्टेयर भूमि पर निर्मित हो रहा है। इसे बनाने के लिए करीब 10।85 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं।

heliport shimla

Source – Times of India

आपातकालीन परिस्थितियों में भी आएगा काम

बता दें कि वर्तमान में हेली टैक्सी शिमला के समीप जुब्बड़हट्टी एयरपोर्ट से उड़ान भर रही है। बनरेडू में हेलीपोर्ट तैयार होने से यहां से हेली टैक्सी उड़ान भर सकेगी। यहां से चार्टर्ड फ्लाइट्स की सुविधा भी शुरू की जाएगी। इससे हाई एंड टूरिस्ट को आकर्षित किया जा सकेगा और पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। हेलीपोर्ट पर्यटकों सुविधा प्रदान करने के साथ-साथ आपातकालीन परिस्थितियों में भी उपयोगी सिद्ध होगा। पर्यटन एवं नागरिक उड्डयन विभाग के निदेशक के अनुसार आगामी दो माह में हेलीपोर्ट का निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा। इसके बाद यहां पर फ्लाइट्स लैंड करना शुरू हो जाएंगी। हैलीपोर्ट में सुरक्षा के भी आवश्यक प्रबंध किए जाएंगे।

इन लोकप्रिय खबरों को भी पढ़ें 

Web Title heliport will be ready in Shimla in two months

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!