चंडीगढ़ से शिमला, कुल्लू और धर्मशाला जाना अब होगा आसान, शुरू हुई पवन हंस हेली टैक्सी सर्विस

by Ravinder Singh

कोरोना संकट (corona virus) के कारण पिछले तीन महीने से बंद पड़ी पवन हंस की हेली टैक्सी सेवा (heli taxi service) चंडीगढ़ से हिमाचल (himachal) के तीन शहरों के लिए सोमवार से शुरू हो गई है। कंपनी ने उड़ानों (flights) का शेड्यूल भी जारी कर दिया है। इस सेवा के शुरू होने से लोगों को चंडीगढ़, शिमला, भुंतर और धर्मशाला के बीच आने-जाने में सुविधा होगी। हेली टैक्सी सेवा (heli taxi service) का लाभ लेने के लिए यात्रियों को तीन से छह हजार रुपये के बीच प्रति सीट किराया चुकाना होगा। कंपनी की तरफ जारी किए गए शेड्यूल के अनुसार सोमवार, शुक्रवार तथा शनिवार को चंडीगढ़-शिमला (chandigarh shimla) और भुंतर (bhuntar kullu) के बीच उड़ान भरेगी। वहीं मंगलवार, बुधवार और गुरुवार को चंडीगढ़-शिमला व धर्मशाला (dharamshala) के बीच उड़ान भरेगी। हर रूट के लिए कंपनी ने अलग-अलग किराया तय किया है।

उड़ानों का शेड्यूल

उड़ानों के शेड्यूल के अनुसार पवन हंस का 11 सीटर हेलीकॉप्टर सोमवार को सुबह 10 बजे चंडीगढ़ से शिमला के लिए उड़ान भरेगा और 10:30 बजे शिमला पहुंचेगा। इसके बाद शिमला से 10:50 बजे उड़ान भरकर 11:40 बजे भुंतर कुल्लू पहुंचेगा। भंतुर से 12 बजे उड़ान भरकर हेलीकॉप्टर 12:50 बजे शिमला में लैंड करेगा और फिर शिमला से हेलीकॉप्टर चंडीगढ़ के लिए रवाना होगा। इसी तरह मंगलवार को विमान चंडीगढ़ से शिमला और फिर शिमला से 10:50 पर धर्मशाला के लिए उड़ान भरेगा और 11:45 पर धर्मशाला में लैंड करेगा। धर्मशाला से हेलीकाप्टर 12:05 बजे उड़ान भरकर 1 बजे शिमला में लैंड करेगा।

heli taxi service himachal

Source – Amar Ujala

देनी होगी स्वास्थ्य की जानकारी

पवन हंस की हेली टैक्सी सेवा शुरू होने के साथ ही भंतुर हवाई अड्डे पर भी तीन महीने बाद हवाई सेवा शुरू होने जा रही है। भुंतर एयरपोर्ट अथॉरिटी के निदेशक ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि हेली टैक्सी सेवा सोमवार से शुरू होगी। हर रूट के लिए अलग-अलग किराया होगा। हवाई यात्रा करने वाले यात्रियों को एंट्री मिलने से पहले एक फार्म भरना होगा, जिसमें उन्हें अपने स्वास्थ्य संबंधी जानकारी के साथ सफर करने का विवरण भी देना होगा।

Himachal Kullu से जुड़ी इन खबरों को भी पढ़ें

Web Title heli taxi service between chandigarh shimla bhuntar dharamshala in himachal started

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!