गढ़वाल से कुमाऊं जाना होगा अब और भी आसान, ग्रीन रोड कॉन्सेप्ट से तैयार होगा कंडी हाईवे

by Content Editor

उत्तराखंड (Uttarakhand) की यात्रा पर जाने वाले पर्यटकों (tourists) के लिए अब गढ़वाल (garhwal) से कुमाऊं (kumaon) जाना आसान होने वाला है। हाल ही में गढ़वाल और कुमाऊं मंडलों को सीधे आपस में जोड़ने वाले कंडी हाईवे को ग्रीन नैशनल रोड (green national highway) के रूप में विकसित करने की दिशा में प्रदेश सरकार को केंद्र की ओर से हरी झंडी मिल गई है। इस हाईवे के बनने से प्रदेश की राजधानी देहरादून से बिना उत्तर प्रदेश गए गढ़वाल से कुमाऊं जाने की पर्यटकों-श्रद्धालुओं को सुविधा मिलेगी।

इस हाईवे को लक्ष्मण झूला (ऋषिकेश) से दुगड्डा-नैनीडांडा-शंकरपुर-मोहान-भतरौंजखान-रानीखेत (300 किलोमीटर) तक जोड़ा जाएगा। इस हाइवे की खास बात यह है कि इसे ग्रीन रोड कॉन्सेप्ट के तहत तैयार किया जाएगा। राजाजी और कार्बेट नैशनल पार्क से गुजरने के कारण इस मार्ग (कंडी रोड) को केंद्र सरकार ने ग्रीन रोड कॉन्सेप्ट में शामिल किया है। इसके लिए 50 करोड़ रुपये की व्यवस्था कर दी गई है। बजट स्वीकृति से नैशनल हाईवे को डबल लेन किया जाएगा।

garhwal kumaon green highway

Source- indianexpress

क्या है ग्रीन कॉन्सेप्ट रोड

सड़क निर्माण की इस तकनीक में तारकोल समेत दूसरे प्रदूषण फैलाने वाले तत्वों का प्रयोग नहीं किया जाता। सीमेंट अथवा लकड़ी के बीम जमीन में बिछाकर बाकी हिस्से को मिट्टी और रेत से तैयार किया जाता है। बता दें कि वन विभाग के अधीन कंडी रोड को आम यातायात के लिए खोलने की मांग पिछले तीन दशक से अधिक समय से चली आ रही है। अंग्रेजों के जमाने से चली आ रही कंडी रोड रामनगर से कालागढ़, कोटद्वार व लालढांग (हरिद्वार) को सीधे जोड़ती है। वर्तमान में ऐसा कोई मार्ग न होने के कारण उप्र के बिजनौर क्षेत्र से होकर गुजरना पड़ता है। ऐसे में समय के साथ ही टैक्स के रूप में धन की हानि भी उठानी पड़ती है।

Uttarakhand की इन लोकप्रिय जगहों के बारे में भी पढ़ें

Web Title garhwal kumaon green national highway

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!