श्रद्धालुओं के लिए माता वैष्णो देवी दरबार पहुंचना होगा आसान, दो दर्जन ट्रेन पहुंचेंगी कटरा स्टेशन तक

by Ravinder Singh

जल्द ही माता वैष्णो देवी (Vaishno Devi) के भक्तों के लिए देश के किसी भी कोने से माता वैष्णो देवी (mata vaishno devi) के दरबार में पहुंचना आसान हो जाएगा। रेलवे प्रशासन ने माता वैष्णो देवी (Mata Vaishno Devi) के भक्तों के लिए दो दर्जन ट्रेनों का परिचालन करने का फैसला लिया है। अब तक देश के अलग-अलग हिस्सों से चलने वाली इन ट्रेनों का अंतिम ठहराव जम्मू-तवी रेलवे स्टेशन (Jammu-Tawi Railway Station) होता था, लेकिन अब इन ट्रेनों का संचालन आगे बढ़ाकर वैष्णो देवी कटरा स्टेशन (Katra Station) तक किया जाएगा। इससे श्रद्धालु सीधे कटरा पहुंच सकेंगे। जबकि इससे पहले श्रद्धालुओं को जम्मू-तवी रेलवे स्टेशन पर उतरकर वहां से सड़क मार्ग द्वारा कटरा तक जाना पड़ता था।

दिल्ली-कटरा एक्सप्रेस कॉरिडोर

इसके अलावा माता वैष्णो देवी के भक्तों की सहूलियत और जम्मू-कश्मीर में पर्यटन की अपार संभावनाओं को देखते हुए केंद्र सरकार ने पूर्व में स्वीकृत दिल्ली-कटरा एक्सप्रेस कॉरिडोर के निर्माण का काम शुरू दिया है। कॉरिडोर का निर्माण कार्य साल 2023 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा है। इस कॉरिडोर का काम पूरा हो जाने के बाद दिल्ली से श्री माता वैष्णो देवी मंदिर के बेसकैंप कटरा तक जाने का सफर महज 6 घंटे में पूरा हो सकेगा। इससे माता वैष्णो देवी के भक्तों का समय भी बचेगा और माता के दरबार तक पहुंचने में उन्हें आसानी भी होगी।

mata vaishno devi

Source – Zee News

अमृतसर को भी जोड़ा जाएगा

दिल्ली-कटरा एक्सप्रेस कॉरिडोर लगभग 575 किलोमीटर लंबा होगा। इसके तहत पठानकोट से जम्मू तक बने हाइवे को 6 लेन का किया जाएगा। इसे बनाने में 35 हजार करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इस प्रोजेक्ट से अमृतसर को भी जोड़ा जाएगा, जिससे जम्मू आने वाले श्रद्धालु सीधे अमृतसर जा सकेंगे। केंद्र सरकार ने इस प्रोजेक्ट पर काम करने की सहमती दे दी है। इस प्रोजेक्ट के पूरे होने के बाद माता वैष्णो देवी के दरबार में आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में तो इजाफा होगा ही, साथ ही राज्य की अर्थव्यवस्था और पर्यटन को भी गति मिलेगी।

Jammu के इन धार्मिक स्थलों के बारे में भी पढ़ें

Web Title devotees can easily reach mata vaishno devi darbar now two dozen trains will reach katra station

(Religious News from The Himalayan Diary)

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!