उत्तराखंड में फ्रांस से आए पर्यटकों को कोरोना के चलते 14 दिनों के लिए निगरानी में भेजा गया

by Content Editor

कोरोना वायरस (corona virus) के चलते उत्तराखंड (Uttarakhand) सरकार ने 31 मार्च तक राज्य को लॉकडाउन (lockdown) कर दिया है। पुलिस ने बाहरी राज्यों से घूमने आने वाले यात्रियों के राज्य में प्रवेश पर रोक लगा दी है। नारसन बॉर्डर पर पिछले शनिवार को पुलिस ने 314 वाहनों में सवार ऐसे 1174 लोगों को राज्य में प्रवेश नहीं करने दिया, जिनके पास उत्तराखंड की आईडी नहीं थी। पुलिस सिर्फ उत्तराखंड की आईडी दिखाने पर ही लोगों को राज्य में प्रवेश करने दे रही है। हालांकि अभी तक रोडवेज बसों और रेल से यात्रियों के आने का सिलसिला जारी है। कोरोना वायरस के असर को कम करने का हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं और कोशिश की जा रही है कि यह अधिक से अधिक न फैले।

फ्रांस से आये विदेशी पर्यटक निगरानी में
कोरोना वायरस के चलते पूरे देश में इमरजेंसी की स्थिति बनी हुई है। ऐसी स्थिति में विदेश से आए पर्यटकों पर खास नजर रखी जा रही है। बता दें कि पालड़ीछीना गांव के निवासी हरीश सिंह कसारदेवी और गोवा में होटल का व्यवसाय चलाते हैं। शनिवार सुबह वह फ्रांस से आये 6 विदेशियों को उनके गांव पालड़ीछीना लेकर आ गए। गांव में विदेशियों को देखते ही खलबली मच गई। गांव वालों की जागरूकता इस कठिन परिस्थिति में काफी काम आई।

coronavirus lockdown uttarakhand

लोगों को कोरोना के बारे में पता है और वो अपनी सुरक्षा को लेकर जागरुक भी हैं। इसका प्रमाण उन्होंने तुरंत ही पुलिस को सूचित करते हुए दिया। पुलिस ने विदेशी नागरिकों को 14 दिन तक गांव में रहने के निर्देश दिए हैं। पुलिस विदेशियों पर सख्त नजर रख रही है और उन्हें घर से बाहर न निकलने को कहा गया है। अगर किसी भी विदेशी में वायरस के लक्षण मिलते हैं तो उन्हें तुरंत 104 नंबर पर सूचित करने के कहा गया है, जिससे उनका मेडिकल परीक्षण किया जा सके। अगर किसी भी विदेशी के द्वारा लापरवाही बरती जाती है तो उनके खिलाफ भी कार्यवाही की जाएगी।

इन लोकप्रिय खबरों को भी पढ़ें 

Web Title corona virus lockdown uttarakhand

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!