श्रीनगर-लेह को पूरे साल जोड़ने वाली जोजिला सुरंग के डिजाइन में किया जा सकता है बदलाव

by Ravinder Singh

लेह (leh) और श्रीनगर (srinagar) को पूरे साल आपस में जोड़ने वाली जोजिला सुरंग (zojila tunnel) के डिजाइन (design) में कुछ बदलाव किया जा सकता है। ऐसा इसके निर्माण में लगने वाले लागत को कम करने के लिए किया जाएगा। बीते दिनों केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने इस बात के संकेत दिए हैं। नितिन गडकरी ने कहा है कि सरकार इस परियोजना को पुरानी अनुमानित लागत 6,800 करोड़ रुपये में ही पूरा करना चाहती है। जोजिला सुरंग का रणनीतिक और पर्यटन की दृष्टि से खास महत्व है। जोजिला सुरंग को श्रीनगर-कारगिल-लेह राष्ट्रीय राजमार्ग पर 11,578 फुट की ऊंचाई पर बनाया जा रहा है।

छह सालों से बंद पड़ा है काम

दरअसल सर्दियों के मौसम में भारी बर्फबारी के कारण जोजिला दर्रे पर भारी बर्फ जमा हो जाती है। इस कारण लद्दाख क्षेत्र का कश्मीर से संपर्क कट जाता है। जोजिला सुरंग का निर्माण कार्य पूरा होने के बाद यह लेह और श्रीनगर को पूरे साल आपस में जोड़े रखेगी। फिलहाल इस परियोजना का काम पिछले छह सालों से बंद पड़ा हुआ है। इसे बनाने के लिए करीब 6,800 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत तय की गई थी, लेकिन अब परियोजना की संशोधित लागत 8,000 करोड़ रुपये से अधिक है। इसे फिलहाल मंत्रिमंडल के पास भेजा गया है।

design zojila tunnel

Source – SME Venture

लागत बढ़ने से रोकने की कोशिश

वहीं केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का कहना है कि हम डिजाइन में कुछ बदलाव करने की योजना बना रहे हैं। मेरी कोशिश है कि इस परियोजना की लागत बढ़ने से रोकी जाए। इसे पुरानी अनुमानित लागत 6,800 करोड़ रुपये में ही तैयार किया जाए। हम सुरक्षा से समझौता किए बिना स्केप सुरंग के साथ ही शॉफ्ट्स को भी हटा सकते हैं। साथ ही नितिन गडकरी ने कहा है कि इस परियोजना के लिए अगले दो-तीन महीने में बोली मंगाई जा सकती है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मई 2018 में एशिया की सबसे लंबी जोजिला सुरंग की आधारशिला रखी थी।

इन लोकप्रिय खबरों को भी पढ़ें 

Web Title changes can be made to design of zojila tunnel

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!