17 अगस्त को उत्तराखंड के दयारा बुग्याल में मनाया जाएगा ‘बटर फेस्टिवल’

by Content Editor

उत्तराखंड की खूबसूरत जगहों में से एक उत्तरकाशी ऋषिकेश से 155 किलोमीटर की दूरी पर है। यह शहर भागीरथी नदी के तट पर बसा हुआ है। यहां भगवान विश्‍वनाथ का प्रसिद्ध मंदिर है, जिस वजह से यह शहर धार्मिक दृष्टि से भी महत्‍वपूर्ण है। उत्तरकाशी में स्थित दयारा बुग्याल समुद्र तल से 11 हजार फीट की ऊंचाई पर बसा हुआ है। यहां हर साल प्रसिद्ध “बटर फेस्टिवल” (butter festival uttarakhand) का आयोजन किया जाता है, जिसे स्थानीय भाषा में अंढूड़ी उत्सव के नाम से जाना जाता है। इस बार बटर फेस्टिवल 17 अगस्त को मनाया जा रहा है। हर साल इसमें  भाग लेने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं और मक्खन व मट्ठे से होली खेलते हैं।

Butter festival uttarakhand

बटर फेस्टिवल की शुरुआत (Butter festival uttarakhand)

इस फेस्टिवल के बारे में स्थानीय लोग बताते हैं कि पहले इस होली को गाय के गोबर से  खेलते थे। बरसात में छानियों के बाहर जो कीचड़ जमा होता था, उसमें मट्ठा मिलाकर अंढूड़ी खेली जाती थी। बुग्याल की इस मिट्टी से त्वचा पर होने वाली बीमारियां भी दूर होती थी। लेकिन, अंढूड़ी उत्सव को पर्यटन से जोड़ने के लिए कालांतर में ग्रामीणों ने मक्खन और मट्ठे की होली खेलना शुरू कर दिया। इसी से अंढूड़ी उत्सव को बटर फेस्टिवल के रूप में पहचान मिली। इस उत्सव में ग्रामीण प्रकृति के प्रति कृतज्ञता जताते हैं कि उसी की बदौलत उनके मवेशी स्वस्थ हैं और दूध की वृद्धि से घरों में संपन्नता आई है।

फेस्टिवल मनाने का तरीका
अंढूड़ी के दिन घरों की सभी छानियों के बाहर रंग-बिरंगे फूल सजाए जाते हैं। इन फूलों के साथ ही छानियों के बाहर एक पूरी भी टांगी जाती है। फिर एक व्यक्ति जाकर इस पूरी को उतारता है और तब बाकी लोग मिलकर उस पर मट्ठे की पिचकारियां मारना शुरू करते हैं। इसमें गांव वालों के साथ बाहर से आए लोग भी मट्ठे और मक्खन से सराबोर हो चुके होते हैं। इस पर्व में ग्रामीण प्रकृति देवता की पूजा करते हैं। पौराणिक देवी-देवताओं व वन देवियों की पूजा इस पर्व में की जाती है।

इस फेस्टिवल की शुरूआत साल 2006 में हुई थी। तब उत्तरकाशी होटल एसोसिएशन ने इस पर्व से बाहर के लोगों को जोड़ने के लिए इसे ‘बटर फेस्टिवल’ के नाम से प्रचारित करना शुरू किया। शुरूआत में लोगों की संख्या कम थी, लेकिन धीरे-धीरे इस फेस्टिवल में शामिल होने के लिए दूर-दूर से लोग आने लगे हैं।

butter festival uttarakhand

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!