अद्भुत नक्काशी के लिए प्रसिद्ध है कुल्लू में व्यास नदी के तट पर पिरामिड शैली में बना बशेश्वर महादेव मंदिर

by Ravinder Singh

कुल्लू अपनी अद्भुत प्राकृतिक खूबसूरत के लिए पूरी दुनिया में मशहूर है, लेकिन यहां कई ऐतिहासिक धार्मिक स्थल भी हैं। इन्हीं धार्मिक स्थलों में से एक है बशेश्वर महादेव मंदिर (basheshwar mahadev temple)। भगवान शिव को समर्पित यह ऐतिहासिक धार्मिक स्थल कुल्लू (kullu) जिले के बजुरा गांव में स्थित है। यह कुल्लू से लगभग 15 किमी की दूरी पर राष्ट्रीय राजमार्ग 21 पर है। बशेश्वर महादेव मंदिर को विश्वेश्वर महादेव मंदिर के रूप में भी जाना जाता है। यह मंदिर इस क्षेत्र की आस्था का केंद्र है। यहां हर साल बड़ी संख्या में लोग दर्शन करने के लिए आते हैं। यह मंदिर कुल्लू जिले के सबसे बड़े धार्मिक स्थलों में से एक है।

पिरामिड शैली में बना है मंदिर

ब्यास नदी के तट पर स्थित बशेश्वर महादेव मंदिर एक असाधारण मंदिर है। यह धार्मिक स्थल अपनी पत्थर की नक्काशी, समतल शिकारा और चमत्कारिक मूर्तियों के लिए प्रसिद्ध है। मंदिर को पिरामिड शैली में बनाया गया है। मंदिर की आंतरिक और बाहरी दीवारों पर अद्भुत नक्काशी की गई है। यहां आने वाले श्रद्धालु मंदिर की अद्भुत नक्काशी देखकर चौंक जाते हैं। मंदिर परिसर के अंदर भगवान शिव और उनकी पत्नी देवी पार्वती की एक बड़ी “योनी-लिंगम” मूर्ति स्थापित है। इसकी खूबसूरती को बड़ा ही पवित्र माना जाता है। मंदिर का इतिहास 9वीं शताब्दी ईस्वी पूर्व का है।

basheshwar mahadev temple

Source – HolidayIQ

छोटे-छोटे कई मंदिर

मंदिर परिसर में कई अन्य छोटे-छोटे मंदिर भी स्थित है, जो विभिन्न देवताओं को समर्पित है। यहां हिंदू देवता भगवान विष्णु, देवी लक्ष्मी, स्त्री शक्ति की अवतार माता दुर्गा और भगवान गणेश की लघु मूर्तियों के भी दर्शन होते हैं। यहां पूरे साल श्रद्धालुओं का तांता लगा रहता है। खासकर महाशिवरात्रि और सावन के महीने में यहां बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचते हैं। श्रद्धालुओं का विश्वास है कि जो भी श्रद्धालु भगवान शिव के दरबार में सच्चे मन से दर्शन करने के लिए आता है। उसकी हर सभी मनोकामनाएं जरूर पूर्ण होती है।

कैसे पहुंचें बशेश्वर महादेव मंदिर

यह प्रसिद्ध धार्मिक स्थल कुल्लू से लगभग 15 किमी की दूरी पर राष्ट्रीय राजमार्ग 21 पर बजुरा नामक गांव में स्थित है। हवाई मार्ग से बशेश्वर महादेव मंदिर पहुंचना बहुत ही आसान है, क्योंकि यहां से कुल्लू का भुंतर एयरपोर्ट मात्र पांच किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। कुल्लू से लगा होने के कारण यहां सड़क मार्ग से भी आसानी से पहुंचा जा सकता है। कुल्लू सड़क मार्ग द्वारा प्रदेश के अन्य प्रमुख शहरों से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है। कुल्लू से बशेश्वर महादेव मंदिर पहुंचने के लिए बस और टैक्सी की सुविधा उपलब्ध है। यहां से नजदीकी रेलवे स्टेशन लगभग 90 किलोमीटर जोगिंदर नगर में स्थित है, जोकि छोटी लाइन का रेलवे स्टेशन है।

इन लोकप्रिय खबरों को भी पढ़ें 

Web Title basheshwar mahadev temple in kullu

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!