आध्यात्मिक मिनी स्मार्ट सिटी बनेगा बदरीनाथ और केदारनाथ धाम: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

by admin

उत्तराखंड (uttarakhand) के प्रसिद्ध केदारनाथ (kedarnath) और बदरीनाथ धाम (badrinath dham) को आध्यात्मिक मिनी स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (prime minister narendra modi) ने हाल ही में की गई समीक्षा बैठक में यह सुझाव दिया है। उन्होंने कहा है कि दोनों धामों का स्वरूप पर्यटन स्थल की तरह नहीं, बल्कि तीर्थ स्थल की तरह विकसित किया जाना चाहिए। एक तीर्थ यात्री को जितनी सुविधाएं चाहिए होती हैं, वहां उतनी ही सुविधाएं दी जानी चाहिए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बदरीनाथ के मास्टर प्लान और केदारनाथ धाम के पुनर्निमाण कार्यों की समीक्षा के दौरान कई महत्वपूर्ण बातें कही हैं। उन्होंने कहा है कि केदारनाथ और बदरीनाथ धाम को धार्मिक मिनी स्मार्ट सिटी की तरह विकसित किया जाए। तीर्थ यात्रियों को यहां आकर आध्यात्मिकता का अहसास होना चाहिए। उत्तराखंड में आध्यात्मिक होम स्टे तैयार करने का भी सुझाव दिया गया है। दोनों ही धामों की परंपराओं के पीछे वैज्ञानिक तथ्य क्या है, इसके स्पष्टीकरण की भी जरूरत है। जिससे तीर्थयात्रियों को यात्रा का महत्व समझ में आ सके।


पीएम ने कहा है कि बदरीनाथ धाम के प्रवेश स्थल पर विशेष लाइटिंग की व्यवस्था होनी चाहिए। तीन से चार महीने बाद प्रधानमंत्री की ओर से दिए गए सुझावों पर कार्य शुरू कर दिया जाएगा। पहले चरण में सरकारी भूमि पर बने भवनों को हटाया जाएगा। दूसरे चरण में अन्य भवनों को उचित मुआवजा देने के बाद उपलब्धता के हिसाब से भूमि दी जाएगी। इस मौके पर मुख्य सचिव की ओर से कहा गया कि शंकराचार्य के समाधि स्थल का काम तेजी से पूरा किया जा रहा है। सरस्वती घाट पर आस्था पथ का काम भी पूरा हो गया है। दो ध्यान गुफाओं का काम इस महीने के आखिर में पूरा हो जाएगा।

बदरीनाथ धाम के मास्टर प्लान की ही तरह राज्य के अन्य धार्मिक स्थलों को भी आध्यात्मिक मिनी स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित किया जाएगा। इसके लिए केंद्र सरकार की ओर से भी फंडिंग की जा सकती है। बदरीनाथ धाम के मास्टर प्लान के पहले चरण में 481 करोड़ रुपये खर्च होंगे। यहां पर देवदर्शिनी स्थल को विकसित किया जाएगा। एक संग्रहालय व आर्ट गैलेरी बनाने के साथ ही यात्रियों को दृश्य व श्रव्य माध्यम से दशावतार के बारे में जानकारी दी जाएगी। बदरीनाथ मास्टर प्लान को 2025 में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

Uttarakhand के इन धार्मिक स्थलों के बारे में भी जानें

Web Title  badrinath and kedarnath dham to become spiritual mini smart cities in uttarakhand

(Religious News from The Himalayan Diary)

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!