अल्मोड़ा की सांस्कृतिक विरासत को अंतराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाएगा अल्मोड़ा फेस्टिवल

by Ravinder Singh

अल्मोड़ा की समृद्ध विरासत और संस्कृति का जश्न मनाने के लिए और निवेश एवं व्यापार को बढ़ाने के लिए उत्तराखंड सरकार द्वारा 4 दिनों तक यानि 20 से 22 अक्टूबर 2018 तक भव्य अल्मोड़ा फेस्टिवल का आयोजन किया जा रहा है। अल्मोड़ा फेस्टिवल में पर्यटकों को अल्मोड़ा की सांस्कृतिक विरासत से रूबरू कराया जाएगा। गढ़वाल के टिहरी महोत्सव की तर्ज पर सांस्कृतिक नगरी अल्मोड़ा में अल्मोड़ा महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। इसमें सांस्कृतिक कार्यक्रमों की भी शानदार प्रस्तुति दी जायेगी। इस कार्यक्रम को लेकर कुमाऊं कमिश्नर ने कहा कि उत्तराखंड सरकार की पहल पर अल्मोड़ा जिले में पहली बार आयोजित किए जा रहे अल्मोड़ा महोत्सव से यहां की कला संगीत, संस्कृति, पुरातन स्थल, प्राकृतिक सौंदर्य, धार्मिक स्थलों और जैव विविधता को अंतराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाई जाएगी।

कुमाऊं कमिश्नर ने इस महोत्सव के लिए बनाई गई सोशल मीडिया साइटों का भी शुभारंभ किया। कुमाऊं कमिश्नर ने बताया कि अल्मोड़ा महोत्सव में स्थानीय हस्तशिल्प उत्पादों को बाजार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से व्यापारियों को विशेष तौर पर आमंत्रित किया जा रहा है। इस महोत्सव में विलुप्त होने की कगार पर पहुंच चुके परंपरागत उद्योगों को फिर से जिंदा करने के लिए स्थानीय उद्यमियों को प्रोत्साहित किया जाएगा। इसके अलावा महोत्सव में लोक नृत्य, फोटोग्राफी प्रतियोगिता, स्थानीय पर्यटक स्थलों का भ्रमण, कुमाऊंनी फूड फेस्टेबल, योगा महोत्सव, कब्बाली, कवि हास्य सम्मेलन, फिल्म मेकिंग एवं स्टार्स नाईट कार्यक्रम सहित अन्य गतिविधियों का आयोजन भी किया जाएगा।

कुमाऊं कमिश्नर ने अल्मोड़ा महोत्सव की तैयारियों की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने अधिकारीयों को सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद रखने के निर्देश दिए है। इस दौरान उन्होंने कोसी नदी को पुनर्जीवित करने के लिए उद्देश्य से किए गए पौधारोपण कार्य्रकम की समीक्षा की और सुख चुके पौधों के स्थान पर नए पौधे लगाने का निर्देश दिया। दूसरी ओर डीएम ने भी कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण किया और मंच निर्माण व साफ-सफाई को लेकर नगर पालिका व लोकनिर्माण सहित दूसरे विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि 20 से 22 अक्टूबर तक चलने वाले महोत्सव का उद्घाटन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत करेंगे।

You may also like

Leave a Comment

error: Content is protected !!